अब जेल में ऐसे गुजरेगी बलात्कारी बाबा राम रहीम की जिंदगी

0
Want create site? With Free visual composer you can do it easy.

नई दिल्ली। अपनी शिष्य से बलात्कार का दोषी डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सीबीआई कोर्ट ने 20 साल की सजा सुनाई है, जिसके बाद बलात्कारी गुरमीत को कोर्ट से ही सीधे जेल भेजा गया। कोर्ट से सजा सुनाए जानने के बाद अपने गुनाहों के याद करके गुरमीत फफक-फफक कर रोने लगा था।

 

कैसी गुजरी पहली रात ?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राम रहीम पूरी रात बैरख में जागता रहा। इधर से उधऱ टहलता रहा। गुरमीत को खाने में 4 रोटी और सब्जी दी गई थी, लेकिन उसने सिर्फ आधी रोटी ही खाई। राम रहीम को जेल प्रशासन ने नया कैदी नंबर 8647 दिया है।

 

जेल में होगी कड़ी निगरानी

20 साल की सजा होने के बाद गुरमीत राम रहीम अब सुनारिया जेल 8 गैंगस्टर टीम के 50 बदमाशों के बीच रहेगा। सुरक्षा के कारणों से उसे बैरक की बजाय सेल में रखा जाएगा। क्योंकि बैरक में 60 कैदी होंते हैं और सेल में तीन से पांच कैदी ही रखे जा सकते हैं।

जेल में दिया जाएगा ये काम

डेरा प्रमुख के कम पढ़े लिखे होने की बजह से उससे लेबर वर्क यानी की मजदूरी कराई जाएगी। जेल प्रबंधन उसे फैक्ट्री में बढ़ई का काम, चारपाई और कुर्सी बनाने, बागवानी करने अथवा बेकरी में बिस्कुल बनाने का काम दे सकता है. काम करने के ड्यूटी का टाइम सुबह आठ बजे से सा चार बजे तक होगी।

आम कैदियों की तरह मिलेगा खाना

राम रहीम को खाने में सुबह के समय आम कैदियों की तरह ही चाय और ब्रेड दिया जाएगा, दोपहर के वक्त में पांच रोटी और एक दाल दी जाएगी। दिन में 250 ग्राम दूध मिलेगा, शाम को चाय और रात को पांच रोटी के साथ एक सब्जी दी जाएगी।

 

 

आम कैदियों की तरह होंगे कपड़े

जेल मैनुअल के अनुसार राम रहीम को भी सफेद रंग के कपड़े पहनने होंगे। गुरमीत अपने साथ जो कपड़े लेकर गया है उसे जेल में ले जाने की इजाजद नहीं होगी। डेरा प्रमुख के वकीलों ने गुरमीत की जेल बदले जाने की अर्जी लगाई है, इसलिए देर सबेर उसकी जेल भी बदली जा सकती है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक