गुजरात चुनावः पटेल आरक्षण पर बोले ओवैसी, पटेलों को आरक्षण तो मुस्लिमों को क्यों नहीं ?

मुसलमान राजनैतिक रूप से कमजोर है इसलिए चुप रहने को कहा जाता है- ओवैसी

0
Want create site? With Free visual composer you can do it easy.

By- Aqil Raza

गुजरात विधानसभा चुनाव के चलते आरोप प्रत्यारोप का दौर चरम पर है. पटेलों के आरक्षण को लेकर अब सियासी पारा और चढ़ गया है. हार्दिक पटेल का प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर कांग्रेस को समर्थन की घोषणा के बाद दूसरे दलों ने भी निशाना साधना शुरू कर दिया है। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने अलग मोर्चा खोलते हुए मुस्लिम आरक्षण की बात उठाई।

ओवैसी ने ट्विटर पर लिखा कि कांग्रेस पाटीदारों को आरक्षण देने को राजी हो गई है, लेकिन मुस्लिमों को नहीं जो सामाजिक और शैक्षिक रूप से पिछड़े हैं। यही नहीं उन्होंने मुस्लिमों के लिए स्टॉकहोम सिंड्रोम वाली स्थिति की बात भी कही।

हार्दिक के प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद ओवैसी ने कहा, ‘हार्दिक पटेल ने कहा कि कांग्रेस पाटीदारों को आरक्षण देने के लिए राजी हो गई है, लेकिन मुस्लिमों को नहीं जो कि सामाजिक और शैक्षिक रूप से पिछडे़ हुए हैं।इस बात के पर्याप्त सबूत भी हैं, लेकिन मुस्लिम राजनैतिक रूप से कमजोर हैं, और कमजोर लोगों को चुप रहने को कहा जाता है।

 

उन्होंने मुस्लिमों के लिए यहां पर स्टॉकहोम सिंड्रोम की बात भी कही। स्टॉकहोम सिंड्रोम एक ऐसी स्थिति होती है जब अगवा होने वाले व्यक्ति को अपने अपहर्ता के साथ सहानुभूति हो जाती है। यहां मुस्लिमों के लिए स्टॉकहोम सिंड्रोम स्थिति से ओवैसी का मतलब है कि हमेशा ठगे जाने के बावजूद भी मुस्लिम सेक्युलर दलों को ही चुनते है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक