कोरोना का बरपा कहर, कर्नाटक के बाद अब दिल्ली में मौत

चीन में कोरोना वायरस का कहर बरपने के बाद अब भारत में भी इसकी शुरुआत हो चुकी है. भारत में कोरोना वायरस से कुल 2 लोगों की मौत हो चुकी है. इसके साथ ही दिल्ली में पहली मौत की खबर सामने आई है. एक 68 साल की बुजुर्ग महिला को कोरोना कोविड 19 से संक्रमित पाया गया. दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में महिला की मौत कोरोना वायरस और बाकी स्वास्थ्य संबंधित बीमारी से हुई है. केंद्र सरकार की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है कि कोरोना वारस के साथ-साथ 68 साल की ये महिला पहले से डायबीटीज़ और हाइपरटेन्शन जैसी स्वास्थ्य समस्याओं से

CM ने गृहमंत्री को घेरा, कहा- मेरे पास भी कागज़ात नही!

दिल्ली विधानसभा में शुक्रवार को NRCऔर NPR को लेकर गूंज रही. जहां सीएम केजरीवल ने गृहमंत्री शाह को जमकर घेरा औरआरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी रहा. इस दौरान सीएम केजरीवाल ने एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ प्रस्ताव पास किया. साथ ही सीएम केजरीवाल ने केंद्र सरकार से इसे दिल्ली में लागू नही करने की अपील की है. बता दें कि एनआरसी और एनपीआर का यह प्रस्ताव दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने रखा था. जिसका समर्थन करते हुए अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर एक से एक सवाल दागे. दिल्ली विधानसभा में केजरीवाल ने कहा कि देश में पहले ही

योगी सरकार के होर्डिंग पर पलटवार में क्यों लगे सेंगर-चिन्मयानंद के पोस्टर!

यूपी में योगी सरकार और सपा सरकार के बीच में सियासत गर्मा गई है. जिसके बाद एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों के नाम, फोटो और उनके पते के साथ लगाए गए पोस्टर के ठीक सामने बलात्कार के आरोपी चिन्मयानंद, बीजेपी नेता बीजेपी नेता और उन्नाव कांड के रेप का दोषी कुलदीप सिंह सेंगर की फोटो वाला पोस्टर लगाया गया है. यह पोस्टर उस होर्डिंग के जवाब में लगाए गए है जो सीएए के खिलाफ हुए प्रदर्शन के दौरान हिंसा फैलाने वाले 57 लोगों के पोस्टर लखनऊ में योगी सरकार ने लगवाए थे. जो प्रदर्शनकारियों की निजी जानकारियां उजागर कर रही थी जिन्हें सार्वजनिक

उन्नाव कांड: सेंगर को 10 साल कैद, पीड़िता को देना होगा 10 लाख मुआवजा

उन्नाव कांड के आरोपी और बीजेपी से निकाले हुए नेता कुलदीप सिंह सेंगर को अदालत ने दोषी करार दिया है. पीड़िता की पिता के हत्या के आरोप में अदालत ने आज सेंगर को 10 साल के कैद की सजा सुनाई है. इसके साथ ही अदालत ने सेंगर और उसके भाई को पीड़िता के परिवार को 10-10 लाख मुआवजे देने का आदेश दिया है. बता दें कि उन्नाव रेप पीड़िता के पिता की 9 अप्रैल 2018 में न्यायिक हिरासत में मौत हो गई थी. और इस मामले में सीबीआई ने सख्त जांच शुरु की थी जिसके बाद कुलदीप सिंह सेंगर समेत अन्य लोगों के खिलाफ हत्या के आरोपों की कड़ी जांच हुई. वहीं इस

22 विधायकों को स्पीकर का नोटिस जारी, क्या है इस्तीफे की वजह!

मध्यप्रदेश में 22 विधायकों के इस्तीफा देने से कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल छाये हुए है. पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा दिया और अब उनके समर्थक भी उनकी राह पर चल पड़े है. लेकिन इन सबके बीच विधानसभा एनपी प्रजापति ने इनके इस्तीफे अस्वीकार कर दिए है. एनपी प्रजापति ने सभी विधायकों को व्यक्तिगत रुप से मौजूद रहने के नोटिस जारी किए है. प्रजापति ने सभी 22 विधायकों को शुक्रवार तक पेश होने के आदेश दिए है. विधानसभा स्पीकर ने छह विधायकों को शुक्रवार, 7 विधायकों को शनिवार और बाकी के 9 विधायकों रविवार को उपस्थित

दिल्ली हिंसा पर FIR दर्ज, किसी पर नही हुई कार्रवाई!

दिल्ली हिंसा पर एक बेहद ही चौंकाने वाला बयान सामने आया है. जहां दिल्ली के ही एक पुलिस ने कहा है कि हिंसा के दौरान हम खुद को बचाने के लिए वहां से भाग गए, हमने खुद को पार्किंग में छिपा लिया और बचने के लिए शटर गिरा दिए. इतनी हिंसा में किसने फोन किया हम उसका भी पता नही लगा सके. ऐसे भयावह माहौल में हमने किसी गवाह को भी नही पाया कि कोई हमें जानकारी दे सके. इसके बाद उन्होंने आगे बताया कि हम लोगों में से तीन लोगों ने भीड़ पर काबू पाने की कोशिश की लेकिन इतनी भीड़ को काबू कर पाना नामुमकिन था भीड़ ने हमें धकेल दिया.

बजट सत्र के 7 कांग्रेसी सांसदों का निलबंन रद्द

बजट सत्र के दूसरे चरण में लोकसभा में 7 सांसदों को निलंबित कर दिया गया जिसके बाद बुधवार को कांग्रेस ने जमकर हंगामा बोला. जिसके चलते कई बार कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी और प्रश्नकाल नही चल सका. वहीं बुधवार को ही लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने कांग्रेस के सात लोकसभा सांसदों के निलंबन को रद्द कर दिया. दरअसल, सदन में कदाचार के आरोप में उन्हें संसद सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित किया गया था. इससे पहले सदन के सुचारू संचालन को लेकर संसद में ओम बिड़ला की अध्यक्षता में बैठक भी हुई. कांग्रेस और द्रमुक सदस्यों ने निलंबन वापस लो गृह

बीजेपी को लगा तगड़ा झटका, बनेगी कमलनाथ की सरकार ?

मध्यप्रदेश की सियासत में अब दिन प्रतिदिन नया खेल देखने को मिल रहा है. ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस का भीतरी माहौल गर्माया हुआ है. जिसके बाद अब 114 विधायकों में से 22 और सिंधिया समर्थक विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है. अगर इन 22 इस्तीफे को स्वीकार कर लिया जाता है तो कमलनाथ सरकार का गिरना तय है. जानकारी के मुताबिक संभावना है कि विधानसभा अध्यक्ष 22 में से 21 विधायकों के इस्तीफे को अस्वीकार कर देंगे. इस्तीफे को स्वीकार ना करने की एक बेतुकी वजह बताई गई है कि इस्तीफे में विधानसभा शब्द नही

योगी सरकार ने होर्डिंग हटाने के आर्डर को SC में दी चुनौती, कोर्ट ने स्टे हटाने से किया मना!

यूपी में सीएए के खिलाफ हुए प्रदर्शन के दौरान हिंसा फैलाने वाले 57 लोगों के पोस्टर लखनऊ में योगी सरकार ने लगवाए थे. जो प्रदर्शनकारियों की निजी जानकारियां उजागर कर रही थी जिन्हें सार्वजनिक स्थानों पर लगाया गया था. जिसके बाद इलाहबाद हाई कोर्ट ने होर्डिंग हटाने के आदेश दिए थे. लेकिन लगता है योगी सरकार अपने इस फैसले से पीछे नही हटना चाहती जिसके बाद उन्होंने हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी. वहीं इस मामले पर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट ने भी योगी सरकार के इस फैसले पर असहमति जताई है.

दिल्ली हिंसा पर शाह का झूठ, विपक्ष ने उठाए सवाल!

दिल्ली हिंसा मामले पर लोकसभा में चर्चा हुई जहां सांसदों में मुद्दों को लेकर बहस की जंग छिड़ी रही. सदन में दिल्ली हिंसे के कई पहलुओं पर पक्ष और विपक्षों में जमकर तीखी बहस हुई. इस दौरान केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे. सदन में चर्चा के समय अधीर रंजन चौधरी ने सरकार पर जमकर हमला बोला उन्होंने कहा कि दिल्ली हिंसा पर लंबे समय से चर्चा की मांग की जा रही थी, फिर भी सरकार इस विषय पर चर्चा करने को राजी नही हुई. उन्होंने आगे कहा कि सरकार अब ऐसे कौन से कदम उठा रही है कि ऐसी घटना फिर ना घटे. अगर सरकार कोशिश करती तो दिल्ली