ब्राउजिंग श्रेणी

India

प्रो. हेनी बाबू के उत्पीड़न के खिलाफ जन संस्कृति मंच, जनवादी लेखक मंच, दलित लेखक संघ और प्रगतिशील लेखक संघ का संयुक्त बयान।

प्रोफेसर हनी बाबू के पुलिसिया उत्पीड़न के खिलाफ जन संस्कृति मंच, जनवादी लेखक मंच, दलित लेखक संघ और प्रगतिशील लेखक संघ का संयुक्त बयान। दिल्ली, 11 सितम्बर 2019 दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर हनी बाबू के घर पर पूना पुलिस द्वारा मारे गए अवैध ”बिना वारंट” छापे, तलाशी और जाब्ते ही कार्रवाई का जन संस्कृति मंच, जनवादी लेखक मंच, दलित लेखक संघ और प्रगतिशील लेखक संघ पुरजोर विरोध करते हैं कड़ी निंदा करते हैं। हनी बाबू अंग्रेज़ी साहित्य के अध्येता, शोधप्रज्ञ और लोकप्रिय प्रोफ़ेसर होने के साथ एक जाने माने समाज चिंतक और सांस्कृतिक…

भीमा कोरेगांव मामला: प्रो.हेनी बाबू को ओबीसी विरोधी मोदी सरकार जबरन प्रताड़ित कर रही है

दिल्ली विश्वविद्यालय में अग्रेजी विभाग के शिक्षक और ओबीसी के हक व समाजिक न्याय की लड़ाई लड़ने वाले ओबीसी प्रोफेसर हनी बाबू को ओबीसी विरोधी मोदी सरकार जबरन प्रताड़ित कर रही है. बिना किसी वारंट के उनके घर पहुँच कर उनके पूरे परिवार को डराया जा रहा है. हनी बाबू ने हमेशा बहुजनों के लिए आवाज़ उठाया है. यूनाइटेड ओबीसी फोरम के कार्यक्रम में भी वो आते रहे हैं. लेकिन आज उन्हें ये नाजियों की सरकार टारगेट करके उनका उत्पीड़न कर रही है। एक तो एकेडमिया में पहले से ओबीसी प्रोफेसर और एसोशिएट प्रोफेसर की संख्या जीरो है. अब ये भारतीय नाजियों…

चिन्मयानंद केस:रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा के पिता बोले -होस्टल रूम से गायब है बेटी का सामान

पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद मामले में गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने बुधवार को कथित पीड़िता का चिकित्सीय परीक्षण कराया. विशेष जांच दल चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली एलएलएम की छात्रा को कड़ी सुरक्षा के बीच मेडिकल कॉलेज लेकर पहुंचा. मेडिकल कॉलेज की मुख्य चिकित्सा अधीक्षक अनीता धस्माना ने बताया कि डॉक्टरों के पैनल ने छात्रा का चिकित्सीय परीक्षण किया. चिन्मयानंद ने बातचीत में कहा कि उच्चतम न्यायालय के निर्देश पर गठित एसआईटी पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर रही है और उन्हें उसपर पूरा भरोसा है.…

रविदास मंदिर को लेकर जारी हुआ नया फरमान जानिए क्या है वो?

BY_सद्दाम करिमी दिल्ली के तुगलकाबाद इलाके में मंगलवार 10 सितंबर को लोगों ने रविदास मंदिर स्थल पर जाकर पूजा अर्चना करने की कोशिश की है। हालांकि, पुलिस ने उन्हें पहले वहां पहुंचने से रोक दिया था। बता दें कि इस मंदिर को करीब एक महीने पहले उच्चतम न्यायालय के आदेश पर ध्वस्त कर दिया गया था। पुलिस के मुताबिक करीब 100 लोग गुरु रविदास मार्ग पर जमा हुए और मंदिर की तरफ मार्च किया लेकिन रोके जाने के बाद उन्होंने सड़क पर ही अनुष्ठान किया। संयुक्त पुलिस आयुक्त दक्षिणी क्षेत्र देवेश श्रीवास्तव ने कहा, हमने पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की थी।…

अनुप्रिया लाकड़ा पहली आदिवासी महिला जो बनी कमर्शियल पायलट

ओडिशा के माओवाद प्रभावित मलकानगिरि जिले की एक आदिवासी लड़की ने सालों पहले आकाश में उड़ने का सपना देखा और उसे पूरा करने के लिए इंजीनियरिंग की पढ़ाई बीच में छोड़ दी और आखिरकार अपने सपनों को हासिल करके ही दम लिया. यह प्रेरणादायक कहानी है 23 वर्षीय अनुप्रिया लाकड़ा की. ओडिशा की अनुप्रिया पहली आदिवासी महिला पायलट बन गई हैं. पायलट बनने की चाह में अनुप्रिया ने सात साल पहले इंजीनिरिंग की पढ़ाई बीच में छोड़ दी और 2012 में उन्होंने यहां उड्डयन अकादमी में दाखिला ले लिया. अपनी काबिलियत और लगन के बल पर जल्दी ही वह एक निजी विमानन कंपनी…

चंद्रयान 2 का एक बार फिर संपर्क टूटा, लेकिन जुड़ने की कोशिश जारी

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने मंगलवार को कहा कि लैंडर विक्रम के साथ संचार स्थापित करने के लिए सभी संभव प्रयास किए जा रहे हैं. अंतरिक्ष एजेंसी ने एक ट्वीट में कहा, ‘#विक्रमलैंडर चंद्रयान-2 की परिक्रमा में स्थित है, लेकिन इसके साथ अभी तक कोई संचार नहीं हो सका है.’ इसरो के अध्यक्ष के. सिवन ने रविवार को समाचार एजेंसी एएनआई को बताया था कि चंद्रयान-2 ऑर्बिटर ने लैंडर की एक थर्मल तस्वीर प्राप्त की है. https://twitter.com/isro/status/1171284893143224321 उन्होंने कहा था, ‘हम संपर्क स्थापित करने की कोशिश कर रहे हैं. जल्द ही…

दिल्ली में बैठे नहीं, कस्बों के पत्रकारों को है धोखा?

भारत में पत्रकारिता के नाम पर जो कुछ नाम मात्र का बचा-खुचा है, वह छोटे शहरों और कस्बों में काम कर रहे पत्रकारों की वजह से है, जो सिस्टम का पुर्जा बन नहीं पाए हैं, या सिस्टम ने जिन्हें अब तक अपना पुर्जा बनाया नहीं है. हो सकता है कि पत्रकारिता के कुछ आदर्श, कुछ normative values अब भी वहां बचे हों. छोटी जगहों पर खबर छिपाना मुश्किल भी होता है क्योंकि पब्लिक जानती है. मिर्जापुर में मिड डे मील के नाम पर नमक रोटी दिए जाने की खबर का पर्दाफाश करने वाले के काम का प्रेस कौंसिल, एडीटर्स गिल्ड और तमाम संस्थाओं को संज्ञान लेना चाहिए और…

एकही रास्ता : EVM हटाओ लोकतंत्र बचाओ ! बहुजनों की आजादी का अंत : EVM हटाओ !

By-श्रीकांत लोखंडे~ EVM के ब्रम्हास्त्र से बामण जाती संघ ने भारत कि लोकशाही पर अपना आखिरी धावा बोला है और पुरा लोकतंत्र हाथिया लिया है ! ऊनके पास यही साडेचार साल है जिसमे ऊन्है ब्राम्हणतंत्र को पुर्णता मजबुत और स्थाई करना है ! सबसे पहले ऊन्होने राजकीय सत्ता का दुरुपयोग करके लोकशाही के सारे स्तंभ हातिया लिए है ! शासन, प्रशासन, डिफेंस,सारी स्वायत्त संस्थाए, Judiciary, EC, NIA, ED, CBI, IB पर पुर्नता कब्जा होनेके कारण ईतिहासमे सबसे जादा ताकतवर जातीगँग बन चुके है! पहलेसेही मेडिया और प्रचारतंत्र पुर्णता हथिया चुके है ! बाभणोंके…

सीवर में और कितनी मौतों का इंतजार है बीजेपी को

सीवर सफ़ाई के दौरान यूपी के गाजियाबाद में पांच कर्मियों की मौत!मौत या व्यवस्थागत-हत्या! अब चैनल वालों के लिए तो ये खबर है नहीं! अखबार ने खबर छापी है! कुछ ही घंटे बाद लोग यह खबर भूल जायेंगे! कोई चर्चा नहीं होगी! सीवर-सफ़ाईकर्मियों की मौत की अगली खबर आने तक! कोई नहीं पूछेगा, सीवर सफ़ाई की प्रौद्योगिकी, तकनीक और उपकरण के लिए सरकारें खर्च क्यों नहीं करना चाहतीं! सारा ख़र्चा चांद और कश्मीर में प्लाट सुनिश्चित करने के लिए क्यों? अब वैसे कुछ ही दिन रह गए हैं, जब चंद्रयान -2 चंद्रमा पर उतरेगा! देश की तरक्की के नाम ढोल-मृदंग बजाने की…

क्यों संत रैदास को संघ एवं हिंदू दल और भाजपा अपना नायक नहीं मानते ?

By-डॉ सिद्धार्थ रामू~ क्यों संत रैदास को संघ, बजरंग दल, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, विश्व हिंदू परिषद और भाजपा हिंदू एवं अपना नायक नहीं मानते ? रैदास मंंदिर तोड़ने, उसके बाद उसके विरोध मेंं देश-दुनिया के दलित-बहुजनों के सैलाब के उमड़ने और उसके बाद के सारे घटनाक्रम पर संघ-भाजपा और उसके अन्य आनुषांगिक संगठनों की चुप्पी क्या साफ-साफ इस बात की घोषणा नहीं है कि ये लोग रैदास को न तो हिंदू मानते हैं और न ही अपना नायक मानते हैं। कल्पना कीजिए यदि आदि शंकराचार्य, तुलदीदास, सावरकर, श्यामा प्रसाद मुखर्जी, दीनदयाल उपाध्याय का कोई मंदिर…