ब्राउजिंग श्रेणी

Madhya Pradesh & Chhatishgarh

राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ की झांकियां गणतंत्र दिवस की परेड में क्यों नहीं की शामिल?

By- Aqil Raza ~ इस बार गणतंत्र दिवस परेड में कांग्रेस शासित राज्य मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान की झांकियों को शामिल नहीं किया गया. इसको लेकर कांग्रेस पार्टी ने मोदी सरकार पर जबरदस्त हमला बोला है. मध्य प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा कि मोदी सरकार ने मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में मिली हार का बदला लिया है. गणतंत्र दिवस परेड में शामिल झांकी राज्यों का गौरव और जनता का मान, सम्मान और अभिमान होती है. मोदी सरकार ने मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान की झांकियों को बाहर कर प्रदेश के शीश को कुचलने और अपमानित करने का…

2019 में भाजपा का हारना तय है!

2019 में भाजपा का हारना तय है. जनता भाजपा के फरेब से परिचित हो चुकी है. भाजपा को भी पता है कि लोग अब पहले की तरह बेवकूफ बनने वाले नहीं हैं. इसीलिए वह विकास का मुद्दा छोड़कर अपने मूल हथियार यानी साम्प्रदायिक राजनीति का प्रयोग करने के लिए माहौल बनाने लगी है. इसके लिए लगभग सभी न्यूज चैनल , ट्विटर , व्हाट्सएप और फेसबुक का प्रयोग शुरू हो चुका है. फेक न्यूज और प्लांटेड न्यूज से जनता को साम्प्रदायिक होने के लिए उकसाया जा रहा है. लेकिन इसका भी कोई खास असर होता नहीं दिख रहा है. प्रो-बीजेपी तमाम न्यूज चैनल्स और शोसल मीडिया ग्रुप्स/पेज…

अलवर में गौ तस्करी के शक में की गई हत्याओं की ज़िम्मेदार है एक घिनौनी मानसिकता!

By- आकिल रज़ा यह बात मैं बहुत ही ज़िम्मेदारी के साथ लिख रहा हूं.. कि मॉव_लिंचिंग का जो दर्द हम यहां बैठकर महसूस करते हैं, दरअसल वो उतना नहीं है बल्कि उससे कई गुनाह ज्यादा है, वैसे तो देश के कई राज्यों और शहरों में मॉव लिंचिंग की घटनांए हई हैं, लेकिन उन सबसे ऊपर लिस्ट में नाम आता है मेवात क्षेत्र का, मेवात भारत के उत्तरपश्चिम में हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में स्थित एक ऐतिहासिक व पारंपरिक क्षेत्र है। मोटेतौर पर इसकी सीमा में हरियाणा का मेवात जिला, राजस्थान के अलवर, भरतपुर और धौलपुर जिले और साथ ही उत्तर प्रदेश का कुछ…

भीमा कोरेगांव हिंसा में गिरफ्तारी, और घटना के पीछे की साजिश

भीमाकोरेगांव में हुई हिंसा के आरोप में आज यलगार परिषद और कई सामाजिक कार्यकर्ताओं और उनके परिवारजनों के घर पर छापेमारी हुई जबकि इन दंगों के मुख्य आरोपी संभाजी भिड़े और मिलिंद एकबोटे सहित हिंदू गुंडा गैंग के लोग खुलेआम घूम रहे हैं। बल्कि चुनाव से पहले किसी दूसरे दंगे की फ़िराक में औरंगाबाद के आसपास गतिविधियां तेज़ की है। मोदी ख़ुद भिड़े को अपना गुरूजी मानता है, तो फड़नवीस सरकार तो भिड़े-एकबोटे के चरण में पड़ी हुई है। जबकि भिमाकोरेगांव में हुई हिंसा भिड़े-एकबोटे द्वारा प्रायोजित थी, इस मामले में एससी-एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था…

बीपी मंडल की शतवार्षिकी

By- प्रेमकुमार मणि 25 अगस्त उस विन्ध्येश्वरी प्रसाद मंडल का जन्मदिन है , जिनकी अध्यक्षता वाले आयोग के प्रस्तावित फलसफे को लेकर 1990 के आखिर में भारतीय राजनीति में एक भूचाल आया और उसने राजनीति की दशा -दिशा बदल दी . इस वर्ष का जन्मदिन कुछ खास है . आज उनके जन्म की सौवीं सालगिरह है . इसलिए आज उन्हें याद किया ही जाना चाहिए . लेकिन मैं अपने ही अंदाज़ में उन्हें याद करूँगा . मेरी कोशिश हालिया इतिहास के उस पूरे दौर पर एक विहंगम ही सही, नज़र डालने की होगी जिसने बीपी मंडल और उनकी राजनीति को आगे लाया . हाई स्कूल का छात्र था ,जब वीपी मंडल…

समाजिक क्रांति के प्रहरी, आरक्षण के जनक, श्रमण संस्कृति के महाराजा शाहूजी महाराज

By -डॉ जयंत चंद्रपाल बाबासाहब डॉ अम्बेडकर सही कहते थे की जो कोम अपना इतिहास नहीं जानती वह अपने भविष्य का निर्माण नहीं कर सकती। हम ब्राह्मण संस्कृति के राजा राम के बारे में और रामराज्य के बारे में तो बहुत जानते है मगर श्रमण संस्कृति के महाराजा शाहूजी और उनके लोकाभिमुख शासन के बारे में बहुत ही कम। Let us recognize our heroes किसी भी महापुरुष की पहचान उनके द्वारा किये गए कार्यो से होती है। 26 जून 1874 के दिन शुद्र वर्ण की कुर्मी (पाटीदार) जाति में जन्मे बहुजन एवं श्रमण संस्कृति के छत्रपति शाहू जी महाराज ने जाति व्यवस्था और इस…

‘भारत बंद’ के दौरान हुई हिसा का मध्यप्रदेश के IG ने किया खुलासा, मायावती ने भी लगाए कई गंभीर आरोप

By- Aqil Raza बहुजनों के भारत बंद के दौरान हुई हिंसा को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। दरअसल एससी-एसटी एक्ट में दिए गए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ 2 अप्रैल को बहुजन समाज के लोग सड़क पर उतरे थे और भारत बंद किया था। साथ ही प्रदर्शनों के दौरान तमाम जगाहों पर हिंसा भी हुई थी और 8 लोगों की मौत हो गई थी। कहा गया था कि तथाकथित सवर्ण समाज के गुंडो ने बहुजनों के इस प्रदर्शन को हिंसक बनाने का प्रयास किया था। वहीं अब मध्यप्रदेश के आईजी इंटेलिजेंस मकरंद देउस्कर ने इस हिंसा को लेकर बड़ा खुलासा किया है उन्होंने कहा है कि मध्यप्रदेश में दंगे…

भारत बंद के दौरान ग्वालियर में रिवॉल्वर से फायरिंग करने वाले मुख्य आरोपी राजा चौहान के खिलाफ FIR दर्ज

ग्वालियर। भारत बंद के दौरान ग्वालियर के ठाठीपुर में रिवॉल्वर से फायरिंग कर रहे शख्स की पहचान राजा चौहान के तौर पर पुख्ता हो गई है. राजा चौहान ने दंगा फैलाने के मकसद से भीड़ पर फाय़रिंग की थी जिसके बाद 2 दलितों की मौत हो गयी और शांतिपूर्ण आंदोलन दंगे में तब्दील हो गया. पुलिस ने राजा चौहान के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. राजा चौहान बीजेपी का कट्टर समर्थक व हिंदूवादी संगठनो का सदस्य है. बचाव करते हुए हत्यारे राजा के पिता का कहना है कि उनका बेटा घटना से एक दिन पहले ही अपने काम के सिलसिले में इंदौर चला गया था. वो ये ज़रूर मानते…

गोली चलाने वाला सख्स की सामने आई सच्चाई, भारत बंद का समर्थक नहीं विरोधी था

मध्यप्रदेश। एससी/एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ भारत बंद के समर्थक सड़कों पर उतर गए और पूरे देश में आन्दोलन किया. सोशल मीडिया के आहवान से एकजुट जनता ने कल 2 अप्रैल को भारत बंद का एलान किया था. दिन ढलने के साथ ही हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश से हिंसा की खबरें आने लगी. कही आगजानी तो कही पुलिस से टकराव की खबरें सामने आ गयीं. पंजाब में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गईं. देशभर से आगजनी और बर्बर पुलिस लाठीचार्ज के वीडियो सोशल मीडिया पर आने लगे. कई जगहों पर रेल परिचालन भी रुका तो बाजार भी बंद रहे. प्रदर्शन के दौरान कुल 14…

मध्यप्रदेश में भारत बंद के दौरान बहुजन संगठन पर बजरंग दल का हमला

भिंड में भी बंद का व्यापक असर देखने को मिल रहा है। यहां बहुजन संगठन और बजरंग दल के कार्यकर्ता आमने-सामने हो गए। दोनों दलों के समर्थकों के बीच जमकर पथराव हुआ। उग्र होते प्रदर्शन को काबू में करने के लिए पुलिस को गोलियां दागनी पड़ीं, इससे पांच लोगों के घायल होने की सूचना है। मुरैना की तरह भिंड में भी बंद समर्थकों ने नेशनल हाइवे जाम कर दिया। वहां पर गाडियों को रोक कर उसके शीशे तोड़े गए। हिंसा रोकने के लिए पुलिस ने हवाई फायरिंग भी की है। मालनपुर में हाइवे जाम कर दिया है, जिसके बाद दोनों और सैकड़ों वाहन फंस गए है