Browsing Category

North East

मुजफ्फरपुर कांड: भूमिहार बेदाग, कुशवाहों को कलंक!

By- Santosh Yadav मामला मुजफ्फरपुर सामुहिक बलात्कार कांड से जुड़ा है। इस मामले में ब्रजेश ठाकुर(भूमिहार) किंगपिन हैं। लेकिन इसका सारा दोष कुशवाहा जाति से संबंध रखने वाली पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के माथे मढ़ दिया गया। यह विश्वास करने योग्य नहीं है कि बजेश ठाकुर केवल पूर्व मंत्री के पति को ही लड़कियां सप्लाई करता होगा। हालांकि अब इस मामले की जांच पटना हाईकोर्ट की निगहबानी में सीबीआई कर रही है, लिहाजा सनसनीखेज खुलासों के लिए बिहार की जनता को तैयार रहना चाहिए। बहरहाल बिहार सरकार में शामिल भूमिहार जाति के साझेदारों ने पूरे मामले…

जन्मदिन विशेष: अगर फूलनदेवी को भारत रत्न से सम्मानित किया जाता तो आज बलात्कारियों के इतने हौसले बुलंद न होते!

विश्व इतिहास की श्रेष्ठ विद्रोही महिलाओं की सूची में “टाइम मैगजीन” ने फूलन देवी को चौथा स्थान दिया था। लंदन का ‘गार्डियन’ न्यूज़पेपर भारत के प्रधानमंत्री के मरने तक पर स्मृति लेख नहीं छापता, वह फूलन देवी पर बड़ा सा स्मृति लेख छाप चुका है। आज अमेरिका से लेकर ब्रिटेन में फूलन देवी का सम्मान किया जा रहा है। 'टाइम मैगजीन' से लेकर 'गार्डियन' न्यूज़पेपर तक में उनके नाम का डंका बज चुका है। भारत से ऐसा सम्मान पाने वाली फूलन अकेली महिला है। फूलन देवी ने पुरुष और जाति सत्ता से प्रतिशोध का जो तरीका चुना वो हिंसक होते हुए भी ग़लत नहीं लगता…

समाजिक क्रांति के प्रहरी, आरक्षण के जनक, श्रमण संस्कृति के महाराजा शाहूजी महाराज

By -डॉ जयंत चंद्रपाल बाबासाहब डॉ अम्बेडकर सही कहते थे की जो कोम अपना इतिहास नहीं जानती वह अपने भविष्य का निर्माण नहीं कर सकती। हम ब्राह्मण संस्कृति के राजा राम के बारे में और रामराज्य के बारे में तो बहुत जानते है मगर श्रमण संस्कृति के महाराजा शाहूजी और उनके लोकाभिमुख शासन के बारे में बहुत ही कम। Let us recognize our heroes किसी भी महापुरुष की पहचान उनके द्वारा किये गए कार्यो से होती है। 26 जून 1874 के दिन शुद्र वर्ण की कुर्मी (पाटीदार) जाति में जन्मे बहुजन एवं श्रमण संस्कृति के छत्रपति शाहू जी महाराज ने जाति व्यवस्था और इस…

त्रिपुरा: भाजपा की जीत के बाद हिंसा भड़की, लेनिन की मूर्ति तोड़ी

अगरतला। त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली जीत को दो दिन नहीं बीते लेकिन भाजपा नेता और उनके कार्यकर्ताओं ने अपनी गुंडागर्दी शुरु कर दी. जीत के 48 घंटे के भीतर भाजपा समर्थकों ने वामपंथ के अगुवा माने जाने वाले रूसी कम्युनिस्ट क्रांतिकारी व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति क्रेन से गिरा दी. इस दौरान भारत माता की जय के नारे खूब लगाए गए. जिसके बाद वाम दलों से जुड़ी अन्य इमारतों को भी नुकसान पहुंचाने की खबर है. रिपोर्टस के मुताबिक भारत माता की जय का नारा लगाते हुए सैकड़ों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता जुटे और बुलडोजर मंगाकर…

प्लास्टिक की बोरियों में जवानों के शव का क्या है पूरा सच ?

नई दिल्ली। भारतीय सेना के सात जवान शहीद. सातों के शव प्लास्टिक की बोरियों में भरे हुए. बोरियां गत्ते में रखी हुईं. ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. आपने भी अपने फेसबुक पेज पर यकीनन देखा होगा इन तस्वीरों को. आपके भी मन में गुस्सा भड़का हो शायद. सेना के रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल ने ट्वीट की थीं तस्वीरें शुक्रवार, 6 अक्टूबर. भारतीय सेना का एक MI-17 हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया. अरुणाचल प्रदेश के तवांग में. चीन की सीमा के पास. उसमें भारतीय वायु सेना के पांच अधिकारी थे. सेना के दो जवान भी थे. हादसे में ये सातों शहीद…

30 साल तक देश की रक्षा करने वाले मुस्लिम सैनिक से मांगा जा रहा है भारतीय होने का सबूत

गुवाहाटी। असम से एक हैरान करने वाली खबर सामने आई है जहां भारतीय सेना के एक रिटायर्ड मुस्लिम अधिकारी को 30 साल देश की सेवा करने के बाद उसे अपनी नागरिकता साबित करने के लिए नोटिस भेजा गया है. जी हां, असम के रहने वाले मोहम्मद अजमल हक से उनकी भारतीय नागरिकता के सबूत मांगे जा रहे हैं. दरअसल मोहम्मद अजमल हक को बांग्लादेशी नागरिक बता भारतीय नागरिकता साबित करने के लिए नोटिस भेजा गया है. बता दें कि यह नोटिस मोहम्मद अजमल हक को असम फॉरनर्स ट्रिब्यूनल की ओर से भेजा गया है. इतना ही नहीं, अजमल हक के खिलाफ असम पुलिस ने मुकदमा भी दर्ज किया…

एक महीने में दूसरे पत्रकार की हत्या

अगरतला। त्रिपुरा में 'दिनरात' न्यूज चैनल के लिए काम करने वाले पत्रकार शांतनु भौमिक की पीट पीट कर हत्या कर दी गई. शांतनु भौमिक की हत्या उस वक्त हुई, जब वह पश्चिमी त्रिपुरा में इंडिजीनस फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) और सीपीएम के ट्राइबल विंग टीआरयूजीपी के बीच संघर्ष को कवर कर रहे थे. पुलिस के मुताबिक 'दिनरात' चैनल के पत्रकार शांतनु पर धारदार हथियार से हमला किया गया था. शांतनु महज 28 साल के थे. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक शांतनु दोनों पार्टियों के बीच चल रहे टकराव को कवर कर रहे थे तभी उन पर पीछे से हमला किया गया. इसके बाद उनको…

जानें रोहिंग्या मुसलमानों का समर्थन करने पर BJP ने कहां मुस्लिम महिला नेता को निकाला ?

गुवाहाटी। बीजेपी ने अपनी एक मुस्लिम महिला नेता को पार्टी से निकाल दिया है. जी हां असम बीजेपी की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रहीं बेनजीर अरफां को रोहिंग्या मुसलमानों का समर्थन करने पर पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है. दरअसल बेनजीर अरफां ने फेसबुक पर रोहिंग्या मुसलमानों का समर्थन किया था. बेनजीर 2012 से बीजेपी के साथ जुड़ी थीं. वहीं बेनजीर का कहना है कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष रंजीत कुमार दास ने उन्हें पार्टी से निष्कासित करते हुए व्हाट्सएप पर सस्पेंसन लेटर भेजा. बेनजीर ने बताया कि उन्होंने रोहिंग्या मुसलमानों के समर्थन…

DD और AIR को माणिक सरकार के भाषण से डर लगता है !

नई दिल्ली। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार ने दूरदर्शन और आकाशवाणी को आड़े हाथों लिया है. माणिक सरकार का कहना है कि स्वतंत्रता दिवस पर दूरदर्शन और आकाशवाणी ने उनके भाषण को प्रसारित करने से मना कर दिया और कहा कि जब तक वह अपने भाषण में बदलाव नहीं करेंगे तब तक इसे प्रसारित नहीं किया जाएगा.  माणिक सरकार का कहना है कि दरअसल दूरदर्शन उनके भाषण में बदलाव चाहता था. माणिक सरकार कहते हैं कि दूरदर्शन की ओर से उनसे कहा गया था कि जब तक वह भाषण में बदलाव नहीं करते हैं तब तक उसे प्रसारित नहीं किया जाएगा.  वहीं माणिक सरकार ने इस कदम को…