कोरोना वायरस से भारत में भी मचा कोहराम

0
Want create site? With Free visual composer you can do it easy.

चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोना वायरस लगातार बढ़ता ही जा रहा है. वहां के लोग इस बिमारी का शिकार हो रहे है. चीन में मरीजों की तादाद खूब तेजी से बढ़ रही है. चीन से ताजा रिपोर्ट फिर सामने आई है जहां पर करीब 1600 मरीजों की कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है. चीन में फैलती इस बीमारी ने अब भारत की ओर भी अपना रुख ले लिया है. वहीं अब भारत ने एहतियात के तौर पर चीन में रहने वाले विदेशियों और चीनी नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा को निलंबित कर दिया है.

भारत के केरल में भी कोराना वायरस के बीमारी की पुष्टि की गई है. यहां पर तीन मरीज जो वुहान में पढ़ाई कर रहे थे वहां से लौटकर आएं है और इस बीमारी की चपेट में आ गए है. जिसके बाद तीनों मरीजों को अस्पताल में भर्ती कर लिया गया है. अस्पताल में इनका बारीकी से ध्यान रखा जा रहा है और तीसरे की स्थिती स्थिर बनी हुई है. इन सबके बाद चीन से वापस भारतीयों को भारत लाने के लिए दो विमानों को तैयार किया गया था और भारतीयों को लाने की प्रकिया पूरी भी रही.

बता दें कि अब तक भारत के केरल से कोरोना वायरस के तीन मामले सामने आ चुके है. कोरोना वायरस की चपेट में आए तीनों मरीज हाल ही में चीन की यात्रा से वापस लौटे थे. कोरोना वायरस के चीन में बरपे कहर को ध्यान में रखते हुए भारत पूरी तरह से अलर्ट है. सरकार ने कोरोना वायरस को ‘राज्य आपदा’घोषित कर दिया है. ताकि इस बीमारी से निपटने के लिए जरुरी और आवश्यक कदम उठाए जा सके. इससे पहले भी कोरोना वायरस को लेकर हुई समीक्षा बैठक के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने बताया कि जितने भी यात्री देशभर के विभिन्न एयरपोर्ट पर भारत पहुंच रहे है उन सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है. ताकि अगर किसी में कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई दें तो उन्हें सीधा इलाज के लिए भेजा जाएं. साथ ही दूसरी ओर, चीनी नागरिकों को किसी भी केस में भारत में आने की इजाजत नहीं दी गई है.

गौरतलब है कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए सरकार ने कुछ संभव कदम उठाये है. भारत ने चीन के ई वीजा पर रोक लगाई और मदद के लिए चीन के पास मास्क भिजवाए है. साथ ही उन भारतीय छात्रों को वापस भारत लाने के प्रयत्न शुरू किये जो चीन में फंसे थे. इससे पहले ही बीते दिनों भारतीय छात्रों को एयर लिफ्ट करके वापस भारत लाया गया और उन्हें मानेसर स्थित कैंप में रखा गया है. स्वदेश लौटे भारतीयों को मेडिकल निगरानी में रखा है ताकि उनकी अच्छे से जांच हो सके .

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुकट्विटरऔर यू-ट्यूबपर जुड़ सकते हैं.)

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक