Home Current Affairs बीजेपी ने फिर चली चाल, एक और कांग्रेस नेता के घर भेजी ED की टीम !

बीजेपी ने फिर चली चाल, एक और कांग्रेस नेता के घर भेजी ED की टीम !

बीजेपी के सत्ता में आते ही बीजेपी ने विपक्षी नेताओं पर झूठे आरोप लगाकर जेल में भेजने, और अन्य पार्टियों की बदनामी शुरू कर दी है। आजम खान, चिदंबरम और अब कांग्रेस नेता अहमद पटेल का नाम भी इसमें जुड़ गया है। दराअसल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सोनिया गांधी के पूर्व राजनीतिक सचिव अहमद पटेल से शनिवार को ED की टीम ने स्टर्लिंग-बायोटेक मामले में 8 घंटे पूछताछ की।

ईडी की इस पूछताछ के बाद कांग्रेस सांसद अहमद पटेल ने मोदी सरकार पर निशाना साधा। अहमद पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह के दोस्त मेरे घर पर आए थे। मुझसे जो भी सवाल पूछा गया उसका मैंने जवाब दिया। आगे उन्होने कहा की सरकार अपनी नाकामियां छिपाने के लिए विपक्ष पर निशाना साध रही है। उन्होंने कहा कि मुझे अधिकारियों के प्रति दया आती है जिनका इस्तेमाल ध्यान भटकाने के लिए किया जा रहा है। ऐसे समय में जब चीन ने हमारी जमीन पर कब्जा कर लिया है और उस जमीन को वापस हासिल करने के बजाय सरकार विपक्ष के नेताओं के पीछे पड़ी है।

बता दें कि स्टर्लिंग-बायोटेक मामले को लेकर अहमद पटेल से मंगलवार को फिर पूछताछ होगी। अहमद पटेल ने कहा कि आज पूरा देश कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। हमारा हेल्थ सिस्टम फेल हो चुका है और सरकार विपक्ष पर निशाना साध रही है, यह सब चीन और कोरोना से निपटने में उनकी अक्षमता को छिपाने के लिए किया जा रहा है।

अगर मैंने कुछ गलत किया है तो कानून के तहत मेरे खिलाफ कार्रवाई हो, उन्होंने आगे कहा कि यदि आप विश्लेषण करें तो आपको पिछले कई वर्षों में एक स्पष्ट पैटर्न दिखाई देगा। हर बार जब राज्य सभा, लोकसभा, विधानसभा चुनाव या सरकार पर संकट आता है, तो एक व्यक्ति के निर्देश पर जांच एजेंसियां ​​सक्रिय हो जाती हैं।

गौरतलब है कि इस मामले में ईडी अहमद पटेल के बेटे फैसल और इरफान से पहले ही पूछताछ कर चुकी है। 14500 करोड़ रुपये के बैंक ऋण में धोखाधड़ी से जुड़े इस मामले में आरोपी नितिन संदेसरा, चेतन संदेसरा और दीप्ति संदेसरा फरार चल रहे हैं। लेकिन बड़ा सवा ये है की सरकार लोगों का ध्यान भटकाने और नेताओं को बदनाम करने के लिए किस हद भी जा सकती है।

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुक, ट्विटर और यू-ट्यूब पर जुड़ सकते हैं.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

आकाशीय बिजली गिरने से 43 लोगों की मौत, सरकार ने साधी चुप्पी !

एक तरफ कोरोना अपना कहर जमकर बरपा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ अन्य आपदाएं भी पिछे हटने का नाम …