गुजरात : ऊंची जाति वालों को रास नहीं आई बहुजन युवक की घुड़सवारी, कर दी हत्या

0
Want create site? With Free visual composer you can do it easy.

भावनगर: आजाद भारत को 71 साल बीत गए हैं पर जातिवाद का दंश लोगों के जहन से अभी तक नहीं निकला. न्यू इंडिया में कदम रखने की बात भले ही सरकारें कर रहीं हो पर यह भी सच है की हमारे देश में आज भी ऊंच-नीच के नाम पर हजारों लोगों की हत्याएं कर दी जाती हैं. ताजा मामले में गुजरात के भावनगर जिले में कुछ ऊंची जाति के लोगों ने एक बहुजन की इसलिए हत्या कर दी, क्योंकि ऊंची जाति बाहुल्य इलाके में उसने घोड़ा रख लिया था. इसे इज्जत की लड़ाई मानते हुए ऊंची जाति के लोगों ने ना केवल उस बहुजन युवक की हत्या कर दी बल्कि उसके घोड़े को भी मार डाला.

भावनगर एससी/एसटी सेल के पुलिस उपाधीक्षक एएम सैयद ने कहा कि प्रदीप राठौड़ नामक 21 वर्षीय युवक की बृहस्पतिवार शाम को हत्या कर दी गई। इस मामले में पूछताछ के लिए तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है। उन्होंने आगे कहा कि हमें एक सीसीटीवी फुटेज मिला है जिसमें प्रदीप घोड़े पर चढ़ा हुआ था। यह फुटेज उसका शव मिलने से पहले का है। प्रदीप राठौर ने दो महीने पहले एक घोड़ा खरीदा था और तब से उसके गांववाले उसे धमका रहे थे.

प्रदीप के पिता कालुभाई राठौर ने बताया कि प्रदीप धमकी मिलने के बाद घोड़े को बेचना चाहता था. कालुभाई ने पुलिस को बताया, “प्रदीप गुरुवार को खेत यह कहकर गया था कि वह वापस आकर साथ में खाना खाएगा. जब वह देर तक नहीं आया, हमें चिंता हुई और उसे खोजने लगे. हमने उसे खेत की ओर जाने वाली सड़क के पास मृत पाया. कुछ ही दूरी पर घोड़ा भी मरा हुआ पाया गया. प्रदीप 10वीं की परीक्षा पास करने के बाद खेती में अपने पिता की मदद करता था.

गांव की आबादी लगभग 3000 है और इसमें से बहुजनों की आबादी लगभग 10 प्रतिशत है. प्रदीप के शव को पोस्टमार्टम के लिए भावनगर सिविल अस्पताल ले जाया गया है, लेकिन उसके परिजनों ने कहा है कि वे लोग वास्तविक दोषियों की गिरफ्तारी तक शव स्वीकार नहीं करेंगे. स्थिति को देखते हुए गांव में पुलिस के आला अधिकारी डेरा डाले हुए हैं.

 

 

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक