जाफराबाद गोलीकांड पर सीएम अरविंद केजरीवाल की बड़ी प्रेस कॉन्फ्रेंस

0
Want create site? With Free visual composer you can do it easy.

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर दिल्ली में बवाल मचा हुआ है. उत्तरी पूर्वी दिल्ली में सोमवार को समर्थकों और विरोधियों के बीच भिडंत हुई. दंगाईयों ने जमकर उग्र हिंसा को अंजाम दिया. सोमवार के बाद अब मंगलवार को भी मौजपुर और ब्रह्मपुरी इलाके में जमकर पत्थरबाजी हुई. जानकारी के मुताबिक दिल्ली हिंसा में मौतों की संख्या बढ़कर अब 7 हो चुकी है, जिसमें हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल भी शामिल हैं. इसके साथ ही 100 से ज्यादा आम लोग भी घायल हुए हैं.

वहीं दिल्ली हिंसा मामले पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विधायकों के साथ बैठक करने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेस कर कहा कि अस्पताल और प्रशासन तैयार रहने के लिए कहा गया है ताकि किसी भी हालात में लोगों को चिकित्सा सुविधा मुहैया कराया जा सके साथ ही दमकल विभाग को भी तैयार रहने को कहा गया है.

केजरीवाल ने आगे बताया कि पुलिस को ऊपर से कार्रवाई का आदेश नहीं मिला है, इसलिए वह कोई कार्रवाई नहीं कर पा रही है. सीमाई इलाकों से लोग दिल्ली आ रहे हैं और हिंसा को बढ़ावा देकर अंजाम दे रहे हैं. हमने बॉर्डर को सील करने और उपद्रवियों पर कार्रवाई की मांग की है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के कुछ हिस्सों और विशेष कर उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसक घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए मंगलवार को सभी लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की है.

गौरतलब है कि दिल्ली में हिंसा के मुद्दे पर सीएम केजरीवाल अमित शाह से मिलने पहुंचे. जिसके बाद गृह मंत्रालय की बैठक शुरू हो गई है. इस बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपराज्यपाल अनिल बैजल, पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक समेत कई आला अफसर मौजूद हैं.

बता दें कि भीम आर्मी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर हिंसा भड़काने के लिए कपिल मिश्रा को जिम्मेवार ठहराया है. दिल्ली में इस हिंसक मामले के बाद भी प्रधानमंत्री मोदी का कोई बयान नही आया है. वह तो ट्रंप की मेजबानी में व्यस्थ है. उन्हें देश के माहौल से कोई फर्क नही पड़ रहा. अब देखना यह होगा कि सरकार और प्रशासन की नींद आखिर कब टूटती है. दंगाईयों पर कड़ी कार्रवाई कब होगी. या फिर इन सरकारी संपत्ति और आम जनता की जान ऐसे ही आग में झौंकी जाती रहेगी.

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुकट्विटरऔर यू-ट्यूबपर जुड़ सकते हैं.)

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक