Home International चुनावी नतीजों में बड़ा फेरबदल जानिए किसका पलड़ा भारी

चुनावी नतीजों में बड़ा फेरबदल जानिए किसका पलड़ा भारी

हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव का नतिजे आने में बस चंद दिन बाकी है.और कई चैनल्स एजेंसिस ने एग्जिट पोल भी जारी कर दिए है. कई चैनल एग्जिट पोल में कयास लगा रहे है. कि दोनों ही राज्यों में बीजेपी की ही जीत होनी है. लेकिन दिलचस्प बात ये है कि हरियाणा की 90 विधानसभा सीटों और महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों का  एग्जिट पोल  करवट बदलता दिख रहा है. अब तक के आंकड़ों के मुताबिक, हरियाणा में 65 फीसदी और महाराष्ट्र में 60.50 फीसदी वोटिंग दर्ज की गई जो साल 2014 के विधानसभा चुनावो के मुकाबले सुस्त दिखा.

पोलिंग के आंकड़ो को देखे तो माना जा रहा है. कम लोग अपने घरों से बाहर निकलकर वोट नहीं देना चाहते यानि कि वो मौजूदा सरकार को बदलना चाह रहे है. लेकिन कयास लगा जा रहे है, कि  हरियाणा में बीजेपी 90 विधानसभा सीटों में से 66 पर जीत हासिल कर सकती है.और कांग्रेस के खाते में महज 14 सीटें आने की बात कही जा रही है. बहुमत के लिए इस सूबे में किसी भी दल को कुल 46 सीटों की जरूरत होगी. हालांकि, जरूरी नहीं है कि ये एग्जिट पोल्स सही ही साबित हों, क्योंकि पूर्व में ये कई बार गलत भी साबित हो चुके हैं.

 महाराष्ट्र में सत्ताधारी बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को सत्ता में वापसी के आसार हैं. तो  वहीं विपक्षी कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन को उम्मीद है कि बीजेपी-शिवसेना को हराकर फिर से राज्य में सरकार बनाएंगे. हालांकि, एग्जिट पोल के मुताबिक अगर हम इन समीकरण को समझने की कोशिश करे तो महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना को तगड़ा झटका लग सकता है.वहीं टाइम नाव के एग्जिट पोल के मुताबिक, बीजेपी को 230 सिटे  कांग्रेस को 48 सीटे  और बाकि पार्टी को  10 सीटें मिल सकती हैं। ए.बी.पी के पोल में बीजेपी पार्टी को 192-216, कांग्रेस को 55-81, अन्य को 4-21 बताई जा रही है.

अब जरा हरियाणा के समीकरऩ को समझने की कोशिश करते है. वहीं टाइम नाव के सर्वे की मानें तो बीजेपी को 71, कांग्रेस को 11 और बाकी को आठ सीटें मिल सकती हैं।.  ए.बी.पी  का पोल कहता है कि बीजेपी  72, कांग्रेस आठ और अन्य 10 सीटें निकाल सकते हैं. हालांकि सभी चैनल ने कयास लगा कर  एग्जिट पोल पर तमाम दावे कर रहे है. लेकिन देखना दिलचस्प होगा कि 24 अक्टूबर को किसके सर बंधता है जीत का ताज और किसे हाथ लगती है सत्ता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Remembering Lohia, he who Never Challenged Brahminical Hegemony

Today we remember Ram Manohar Lohia on his 53rd death anniversary. Lohia was a political g…