Home Social जातिगत भेदभाव पाटने निकली केरल सरकार, ‘दलित’ और ‘हरिजन’ शब्द के इस्तेमाल पर लगाई रोक
Social - State - October 19, 2017

जातिगत भेदभाव पाटने निकली केरल सरकार, ‘दलित’ और ‘हरिजन’ शब्द के इस्तेमाल पर लगाई रोक

Kerala. केरल की सरकार ने Dalit And हरिजन शब्द के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है. कहा जा रहा है जातिगत भेदभाव की खाई पाटने के लिए सरकार ने ऐसा कदम उठाया है. लेकिन वहीं सरकार से इस फैसले के बाद से सूबे में दलित वर्ग में आक्रोश है उनका कहना है कि राजनीति में दलितों की उभरती छवि को दबाने के लिए ऐसा किया जा रहा है।

आपको बता दें पीआर विभाग ने एसटी/एससी आयोग की एक सिफारिश का हवाला देते हुए नोटिस जारी किया है। पीआर विभाग ने सर्कुलर के जरिए सभी सरकारी पब्लिकेशन और सरकार की प्रचार-प्रसार सामग्री में ‘दलित’, ‘हरिजन’ शब्दों के इस्तेमाल पर रोक लगाने की अपील की है।

पीआर विभाग का यह सर्कुलर सरकार और अन्य विभागों के बीच इन शब्दों पर बैन लगाने को लेकर चल रही चर्चा के बीच आया है। सर्कुलर में दलित/हरिजन शब्दों की जगह एससी/एसटी शब्द इस्तेमाल करने का सुझाव दिया गया है।

 

According to India Today, the SC / ST commission sources say that the ban on the use of the term Dalit and Harijan was recommended to end the social discrimination that is still prevalent in many places.

वहीं दलित आंदोलनकारियों को सरकार का यह फैसला पसंद नहीं आया। उनका कहना है कि सरकार का यह कदम वह स्वीकार नहीं कर सकते, Because the term Dalit gives him a socio-political identity.

 

A Dalit agitator said, ‘Why does the government want to enter into such issues. ”However, the final order in this matter will come only after talking to the people.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

The Rampant Cases of Untouchability and Caste Discrimination

The murder of a child belonging to the scheduled caste community in Saraswati Vidya Mandir…