Home State Delhi-NCR जानें क्या है एनडीटीवी चैनल के बिकने का सच ?
Delhi-NCR - Social - State - September 22, 2017

जानें क्या है एनडीटीवी चैनल के बिकने का सच ?

BY Sayed Shaad

नई दिल्ली। एनडीटीवी को लेकर सोशल मीडिया में बड़ा हल्ला मचा हुआ है. दरअसल सोशल मीडिया पर एनडीटीवी की बिक्री को लेकर धराधर खबरें पोस्ट हो रही हैं. लोग अपने फेसबुक पेज पर एनडीटीवी को लेकर अपनी राय रख रहे हैं. आलोक कुमार फेसबुक पर लिखते हैं, ‘आर्थिक दबाव के चलते, एनडीटीवी भी बिक गया.’

उमेश पांडे फेसबुक पर लिखते हैं, ‘एनडीटीवी अब “नरेंद्र दामोदर TV” के नाम से जाना जायेगा.’

वहीं इस दौरान एनडीटीवी के चाहने वालों के लिए एक अच्छी ख़बर भी आ रही है. प्रतिष्ठित अंग्रेज़ी अख़बार ‘द हिंदू’ ने एनडीटीवी के बिकने से जुड़ी इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर को अफ़वाह बताया है. हिंदू के ऑनलाइन संस्करण के मुताबिक एनडीटीवी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि ‘एक्सप्रेस में छपी एनडीटीवी के बिकने से संबंधित ख़बर की एक लाइन भी सही नहीं है.’ तो इस वक्त की बड़ी खबर आप को बता दें एनडीटीवी ने स्पाइसजेट द्वारा टेकओवर किए जाने की खबर का खंडन किया है.

दरअसल, आज इंडियन एक्सप्रेस ने एक एक्सक्लूसिव ख़बर छापी है, जिसमें बताया गया है कि एनडीटीवी के बिकने का सौदा हो गया है. रिपोर्ट में बताया गया कि स्पाइसजेट के सह-संस्थापक और मालिक अजय सिंह एनडीटीवी की नए मालिक बनने जा रहे हैं. इस रिपोर्ट में कहा गया कि स्पाइसजेट के चेयरमैन और मैनेजिंग एडिटर अजय सिंह के पास एनडीटीवी के करीब 40 प्रतिशत शेयर होंगे. जबकि प्रणय रॉय और राधिका रॉय के पास करीब 20 प्रतिशत शेयर होंगे. वहीं तमाम वेबसाइट्स पर ये खबर आग की तरह फैल गई. वेबसाइट्स वाले भेड़चाल चलने लगे हैं. बगैर फैक्ट्स चेक किए देखा-देखी खबरें छापने लग जाते हैं.

बहरहाल अब इंतज़ार है एनडीटीवी के अधिकृत बयान का, जो हिंदू अखबार के मुताबिक आज शाम तक जारी हो सकता है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

The Rampant Cases of Untouchability and Caste Discrimination

The murder of a child belonging to the scheduled caste community in Saraswati Vidya Mandir…