Home State Bihar & Jharkhand योगी राज में बेखौफ अपराधी, बिहार के कारोबारी की बनारस में हत्या

योगी राज में बेखौफ अपराधी, बिहार के कारोबारी की बनारस में हत्या

वाराणसी। उत्तरप्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है। अपराधियों के हौसले सातवें आसमान पर है। योगी सरकार सूबे में बढ़ते अपराध पर लगाम नहीं कस पा रही है। वाराणसी में बिहार के एक कारोबारी की हत्या का मामला सामने आया है। बिहार के भभुआ के रहने वाले मोहम्मद आसिफ अंसारी (26) की बुधवार की रात गोली मारकर हत्या कर दी गई। आसिफ भभुआ में गिट्टी बालू का कारोबार करते थे। आसिफ अपने दोस्त अभिषेक सिंह के मकान में ठहरे हुए थे। अभिषेक सिंह पेशे से वकील हैं। कैंट थाना इलाके के मकबूल आलम रोड पर अभिषेक सिंह के मकान में आसिफ सोये हुए थे तभी उसी दौरान उन्हें गोली मार दी गयी।

गुरुवार की सुबह अभिषेक सिंह ने कैंट थाने में अभिषेक सिंह हनी और विवेक सिंह कट्टा के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। अभिषेक सिंह का कहना है कि दोनों की उनसे पुरानी रंजिश है। इसी वजह से उनके घर में आए बदमाशों ने आसिफ को गोली मारी। अभिषेक ने थाने में दी गई तहरीर में बताया है कि बुधवार की देर रात घर में घुसे बदमाशों ने कमरे का दरवाजा पीटना शुरू किया। जिस कमरे का दरवाजा पीटा जा रहा था उसमें वह और उनकी पत्नी थे। उन्होंने डर के कारण दरवाजा नहीं खोला। इसके बाद बदमाश दूसरे कमरे में घुसे और आसिफ उर्फ पिंकू को सोते समय ही चार गोली मारी।

अभिषेक ने बताया कि जब बदमाशों ने घर में दस्तक दी थी तो उन्होंने 100 नंबर पर फोन किया लेकिन पुलिस आधे घंटे के बाद पहुंची। अभिषेक सिंह ने अभिषेक सिंह हनी और विवेक सिंह कट्टा को नामजद किया है। आसिफ़ की हत्या की खबर घरवालों को लगी पिता मोहम्मद नसीम अंसारी वाराणसी पहुंच गए। हालांकि पिता मोहम्मद नसीम अंसारी ने आसिफ के वकील दोस्त अभिषेक सिंह पर ही आसिफ की हत्या का आरोप लगाया है। मोहम्मद नसीम अंसारी ने बताया कि आठ महीने पहले ही आसिफ और अभिषेक सिंह की दोस्ती हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

The Rampant Cases of Untouchability and Caste Discrimination

The murder of a child belonging to the scheduled caste community in Saraswati Vidya Mandir…