Home Social Atrocities मद्रास IIT टाॅपर फातिमा लतीफ के पिता ने कहा मेरी बेटी ने खुदखुशी नहीं की है
Atrocities - November 16, 2019

मद्रास IIT टाॅपर फातिमा लतीफ के पिता ने कहा मेरी बेटी ने खुदखुशी नहीं की है

मद्रास की एक छात्रा फातिमा लतीफ की खुदकुशी का मामला सामने आया है ये मामला लगातार उलझता जा रहा है. किसी को ये यकीन नहीं हो रहा है कि फातिमा ने खुदकुशी कर ली और परिवार वाले इसे आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या मान रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि इसमें IIT मद्रास के ही एक प्रोफेसर का हाथ हो सकता है. जो कथित रूप से उसके अलग धर्म के कारण उसके साथ भेदभाव करता था और बढ़ते दबाव के चलते अब कॉलेज प्रशासन ने केंद्रीय अपराध शाखा को जांच की जिम्मेदारी दी है. केरल के कोल्लम की रहने वाली फातिमा ने इस साल जुलाई में आईआईटी मद्रास में एडमिशन लिया था. 9 नवंबर को उसकी लाश हॉस्टल के कमरे में मिली. 10 नवंबर को जब फातिमा की मां को कॉल का कोई जवाब नहीं मिला तो उन्होंने उसके दोस्तों को फोन मिलाया. तलाश की गई तो उसकी लाश पंखे से लटकी मिली.

इस घटना के बारे में मालूम चलते ही फातिमा के परिवार वाले चेन्नई पहुंचे. जहा उन्हें फातिमा का मोबाइल मिला और फोन मिलते ही परिवार के लोग हैरान हो गए. फातिमा की बहन आयशा के मुताबिक किसी ने उसके मोबाइल से छेड़छाड़ की थी. फातिमा के फोन के पासवर्ड बदल दिए गए थे. परिवार का आरोप है कि फातिमा ने मोबाइल के होमस्क्रीन पर एक नोट लिखा था. जिसमें उसने अपनी मौत के लिए ह्यूमैनिटीज और सोशल साइंस डिपार्टमेंट के प्रोफेसर को ज़िम्मेदार ठहाराया था और 14 नवंबर को फातिमा के मोबाइल की जांच के लिए सायबर सेल के पास भेज दिया गया है.

मीडिया से बातचीत में परिवार वालों ने कहा कि फातिमा ने बताया था कि उन्हें एक प्रोफेसर परेशान करता था. परिवार को पूरा यकीन है कि ये खुदकुशी नहीं आत्महत्या है. उनका कहना है कि पंखे में रस्सी भी नहीं लगी थी. इसके अलावा मौत से एक दिन पहले रात को खाने के समय कैंटीन में वो रो रही थी. उसे किसी दोस्त ने चुप भी कराया था. परिवार वालों का आरोप है कि उन्होंने सीसीटीवी फुटेज की मांग की थी. लेकिन अभी तक उन्हें कोई फुटेज नहीं दिया गया है.

मुख्यमंत्री पलानीस्वामी और पुलिस महानिदेशक जेके त्रिपाठी से मुलाकात के बाद फातिमा के पिता अब्दुल लतीफ ने कहा कि परिवार निष्पक्ष जांच चाहता है. उन्होंने कहा, ‘तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने भरोसा दिया है कि दोषियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा. मैं उनके आश्वासन से संतुष्ट हूं. कि क्या होता है. अब्दुल लतीफ ने कहा कि पुलिस महानिदेशक ने भी कार्रवाई का भरोसा दिया है. उन्होंने दावा किया कि जब बेटी का शव लेने परिवार और कोल्लम के महापौर आए थे तो पुलिस ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया. तमिलनाडु और केंद्र सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए उन्होंने अपने लिए न्याय मांगा.

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुकट्विटर और यू-ट्यूब पर जुड़ सकते हैं.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

The Rampant Cases of Untouchability and Caste Discrimination

The murder of a child belonging to the scheduled caste community in Saraswati Vidya Mandir…