Home Social BJP मंत्री का विवादित बयान, “हिंदू लड़कियों को छूने पर काट दिए जाएंगे हाथ”
Social - Southern India - State - January 28, 2019

BJP मंत्री का विवादित बयान, “हिंदू लड़कियों को छूने पर काट दिए जाएंगे हाथ”

By- Aqil Raza ~

बीजेपी नेताओं द्वारा एक के बाद एक विवादित बयान सामने आते रहे हैं। एक बार फिर केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े भड़काऊ बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि अगर कोई हिन्दू लड़की को छुए तो वो हाथ नहीं बचने चाहिए।

कर्नाटक में एक कार्यक्रम के दौरान हेगड़े ने अपने सम्बोधन में कहा, “हमें अपने समाज की प्राथमिकताओं के बारे में विचार करना होगा। हमें जाति के बारे में नहीं सोचना चाहिए। यदि एक हिन्दू लड़की को कोई हाथ छूता है तो वह हाथ नहीं बचना चाहिए।”

ऐसा नहीं है की अनंत कुमार हेगड़े ने इस प्रकार का विवादित बयान पहली मर्तबा दिया हो। इससे पहले भी हेगड़े अपने विवादित बयानों के चलते सुर्खियों में रह चुके हैं।

 

हालही में हेगड़े ने केरल के सबरीमाला मंदिर में दो महिलाओं के प्रवेश के दावे के बाद कहा था, “सबरीमाला मंदिर में महिलाओं का प्रवेश दिनदहाड़े हिंदुओं का रेप है। वामपंथियों के पूर्वाग्रहों की बजाय केरल के मुख्यमंत्री का पूर्वाग्रह लोगों में भ्रम पैदा कर रहे है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश से मैं सहमत हूं लेकिन जनभावनाओं को ठेस पहुंचाए बिना कानून-व्यवस्था संभालना सरकार का काम होता है। केरल की सरकार इस मामले में पूरी तरह विफल साबित हो गई।

 

बीजेपी मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने धर्मनिरपेक्षता को लेकर भी एक ऐसा बयान दिया था, जिसके कारण विवाद शुरू हो गया था। हेगड़े ने कहा था, “जो लोग धर्मनिरपेक्ष होते हैं, वो अपनी जड़ों से अनजान होते हैं। एक नई परंपरा चलन में है जिसमें लोग खुद को धर्मनिरपेक्ष बताने लगे हैं। मुझे खुशी होगी कि अगर कोई गर्व से यह कहता है कि वह लिंगायत, ब्राह्मण, हिंदू, मुस्लिम या ईसाई है। इससे पता चलता है कि उस व्यक्ति को यह मालूम है कि उसकी रगो में कौन सा खून है। जो लोग खुद को धर्मनिरपेक्ष बताते हैं, मुझे नहीं पता कि उन्हें क्या कहकर बुलाना चाहिए।”

इसके अलावा यह वही अनंत कुमार हेगड़े हैं जो कि हमारे देश का संविधान बदलने की बात भी कर चुके हैं। लेकिन अपसोस की बात यह है कि इतने विवादित बयानों के बाद भी बीजेपी ने न तो उन्हे पार्टी से निकाला है और न ही कोई कार्रवाई की है।

 

और अब हेगड़े सांप्रदायिकता का ज़हर बोते हुए हिंदू लड़कियों को छूने पर हाथ काटने की बात करते हैं। जिससे साफ समझा जा सकता है कि इस बयान के पीछे उनकी मानसिकता किया है। इस बयान में महिलाओं के प्रति सम्मान से ज़ादा दूसरे समुदाय के खिलाफ नफरत साफ झलक रही है। क्या दूसरे समाज या समुदाय की लड़कियों कि इज्ज़त उनके लिए कोई माइनें नहीं रखती।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बाबा साहेब को पढ़कर मिली प्रेरणा, और बन गईं पूजा आह्लयाण मिसेज हरियाणा

हांसी, हिसार: कोई पहाड़ कोई पर्वत अब आड़े आ सकता नहीं, घरेलू हिंसा हो या शोषण, अब रास्ता र…