Home Gujarat ‘EVM से छेड़छाड़ करके जीती बीजेपी’ विपक्ष ने की बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग
Gujarat - Social - State - December 3, 2017

‘EVM से छेड़छाड़ करके जीती बीजेपी’ विपक्ष ने की बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग

By: Sushil Kumar

new Delhi. 2014 में जब लोकसभा चुनाव हुए थे और बीजेपी की चौंकाने वाले आंकड़ो के साथ जीत हुई थी। तब विपक्षी दलों ने ईवीएम पर सवाल उठाते हुए बीजेपी की जीत को ईवीएम में गड़बड़ी करने का नतीजा बताया था। जिसके बाद से ईवीएम को लेकर एक लंबी बहस छिड़ गई।

फिलहाल यूपी में हुए निकाय चुनाव में 16 मेयर की सीट में से 14 पर बीजेपी ने जीत दर्ज कराई है. मात्र दो सीटों पर बीएसपी की जीत हुई है. तो वहीं सपा खाता खोलने में भी नाकाम रही। निकाय चुनाव के दौरान मेरठ और कानपुर से ईवीएम में गड़बड़ी की बात सामने आई थी। खबरों के हवालें से मतदाताओं का कहना था कि वटन चाहे कोई दबाएं वोट बीजेपी को ही जा रहा था।

वहीं ऐसे में एक बार फिर विपक्षी दलों ने ईवीएम को लेकर सवाल खड़े किए हैं. बीएसपी, सपा और आम आदमी पार्टी ने बीजेपी की जीत को ईवीएम का कमाल बताया है।

बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती का कहना है कि निकाय चुनाव में बीजेपी ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया है, नहीं तो हमारे और भी मेयर बनते। उन्होंने कहा कि बीजेपी अगर लोकतंत्र में यकीन रखती है तो वो आम चुनाव में ईवीएम के बदले बैलेट पेपर से चुनाव करवाए, मैं यकीन के साथ कह सकती हूं कि बीजेपी कभी नहीं जीत पाएगी।

मायावती ने कहा हमने यूपी नगर निकाय चुनाव अपने चुनाव चिन्ह पर लड़ा और खुशी की बात यह है कि इन चुनावों में बहुजन समाज के साथ- साथ बैकवर्ड क्लास ने भी वोट दिया। हमें सवर्णों और मुस्लिमों ने बड़े पैमाने पर वोट दिया।

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी पार्टी की हार के लिए ईवीएम को जिम्मेदार ठहराया है। अखिलेश यादव ने ट्वीट करके कहा कि जिन जगहों पर बैलेट पेपर से मतदान हुए, वहां बीजेपी सिर्फ 15 फीसदी ही वोट जीत पाई है। जबकि जिन जगहों पर ईवीएम का इस्तेमाल किया गया उन जगाहों पर बीजेपी 46 फीसदी सीटें जीती है।

 

कांग्रेस के सीनियर नेता प्रदीप माथुर ने भी आरोप लगाया है कि विधानसभा चुनाव के बाद बीजेपी ने निकाय चुनाव में भी ईवीएम से छेड़छाड़ की है. उन्होंने प्रशासनिक मशीनरी पर भी आरोप लगाया है कि वह बीजेपी के इशारों पर काम कर रही है। उन्होंने शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा स्पष्ट है कि यूपी निकाय चुनाव में ईवीएम टैपंरिग की गई है। चुनाव आयोग की निष्पक्षता भी अब बीते जमाने की बात हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

The Rampant Cases of Untouchability and Caste Discrimination

The murder of a child belonging to the scheduled caste community in Saraswati Vidya Mandir…