Home Language Hindi NRC पर रवि किशन का संविधान विरोधी बयान
Hindi - Political - Social - December 4, 2019

NRC पर रवि किशन का संविधान विरोधी बयान

राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर छिड़ी बहस के बीच भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद रविश किशन का विवादित बयान सामने आया है. उन्होंने कहा कि 100 करोड़ की हिंदू आबादी वाला हिंदुस्तान निश्चित रूप में हिंदू राष्ट्र है.

बीजेपी सांसद ने ये बात बुधवार को संसद परिसर में मीडिया द्वारा नागरिकता संशोधन बिल से जुड़े एक सवाल के जवाब में कही. उन्होंने कहा, “यहां 100 करोड़ हिंदू आबादी है, तो हिंदुस्तान हिंदू राष्ट्र अपने आप ही है. जब इतने सारे मुसलमान देश हैं, जब इतने सारे इसाई देश हैं तो यह अद्भुत है कि हम लोगों का अस्तित्व, हम लोगों की पहचान और संस्कृति जीवित है और इसे जीवित रखने के लिए एक माटी है जिसका नाम भारत है.’

रवि किशन ने आगे कहा कि यह बड़े गर्व की बात है कि 100 करोड़ हिंदुओं का एक स्थान है जिसको विश्व जानता है और आज भारत का सम्मान पूरे विश्व में है.

बीजेपी सांसद ने नागरिकता संशोधन बिल को लेकर कहा कि हमें अपनी संस्कृति को बचाकर रखना है. हमारी सरकार ये बिल देश को सुरक्षित बनाने के लिए लाई है. हमें पूरी उम्मीद है कि ये बिल राज्यसभा में भी पास हो जाएगा. रवि किशन ने कहा कि सभी दलों को राजनीति से ऊपर उठकर इस बिल को समर्थन करना चाहिए.

बता दें कि पूरे देश में एनआरसी लागू करने के बिल को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है. अब यह विधेयक पहले लोकसभा और फिर राज्यसभा में जाएगा. सरकार चाहती है कि संसद के मौजूदा शीतकालीन सत्र में ये बिल पास हो जाए.

वहीं विपक्ष लगातार इस बिल का विरोध कर रहा है. विपक्ष का सबसे बड़ा विरोध ये है कि इसमें खासतौर पर मुस्लिम समुदाय को निशाना बनाया गया है. उनका तर्क है कि यह संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन है जो समानता के अधिकार की बात करता है.

इस बिल के तहत अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश के अवैध प्रवासियों को नागरिकता दी जाएगी. हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन और पारसी धर्म के अवैध प्रवासियों को इस बिल का लाभ मिलेगा। मुसलमानों को इस बिल से सीधे तौर पर नुकसान होगा.

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुकट्विटर और यू-ट्यूब पर जुड़ सकते हैं.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

The Rampant Cases of Untouchability and Caste Discrimination

The murder of a child belonging to the scheduled caste community in Saraswati Vidya Mandir…