Home Language Hindi ‘जो संन्यासी को जनकल्याण से रोकेगा, उसे दंड मिलेगा’- प्रियंका गांधी को सीएम योगी आदित्यनाथ का जवाब
Hindi - Political - Politics - Social - December 31, 2019

‘जो संन्यासी को जनकल्याण से रोकेगा, उसे दंड मिलेगा’- प्रियंका गांधी को सीएम योगी आदित्यनाथ का जवाब

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोमवार को ”बदला” लेने सम्बन्धी टिप्पणी पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि भगवाधारी योगी उस हिन्दू धर्म को अपनाएं जिसमें हिंसा और बदले की भावना की कोई जगह नहीं है। सरकार ने फौरन पलटवार करते हुए इस पर कड़ी आपत्ति की और कहा कि कांग्रेस महासचिव ने मुख्यमंत्री के साथ-साथ भगवा को भी आरोपित कर दिया है।

प्रियंका गांधी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने बयान दिया कि वह बदला लेंगे, उस बयान पर पुलिस प्रशासन कायम है। इस देश के इतिहास में शायद पहली बार मुख्यमंत्री ने ऐसा बयान दिया। उन्होंने कहा, ‘उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने योगी के वस्त्र धारण किए हैं। उन्होंने भगवा धारण किया है। यह भगवा आपका नहीं है। यह भगवा हिन्दुस्तान की धार्मिक आध्यात्मिक परंपरा का है। यह हिन्दू धर्म का चिन्ह है। उस धर्म को धारण करिये . उस धर्म में रंज, हिंसा और बदले की भावना की कोई जगह नहीं है।’ प्रियंका के इस बयान के बाद प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कांग्रेस महासचिव ने मुख्यमंत्री के साथ-साथ भगवा को भी आरोपित किया है।

शर्मा ने कहा ‘प्रियंका जी को भगवा चोले के महत्व के बारे में जानकारी नहीं है। योगी जी ने धर्म को धारण किया है। हिन्दू धर्म किसी का अहित करना नहीं सिखाता। हिन्दू धर्म में किसी अन्य धर्म के अपमान की बात ही नहीं है। इतना विशाल हिन्दू धर्म है यह, उसको आप कह रही हैं कि धारण करने वाला व्यक्ति ऐसा काम कर रहा है।’ उपमुख्यमंत्री ने कहा कि आप अपनी राजनीति में आकर धर्मों की लड़ाई को प्रारम्भ कर रही हैं। कृपया ऐसा न करें। यह हिन्दू और मुसलमान का प्रश्न नहीं है। यह भारत के भविष्य और राष्ट्रीय एकता का सवाल है। उन्होंने प्रियंका पर दंगाइयों का साथ देने का भी आरोप लगाया।

बता दें कि उप मुख्यमंत्री के अलावा सीएम योगी आदित्यनाथ ऑफिस के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से भी प्रियंका गांधी के बयानों पर तीखा हमला बोला गया। सोमवार को किए ट्वीट में कहा गया, ‘संन्यासी की लोक सेवा और जन कल्याण के निरंतर जारी यज्ञ में जो भी बाधा उत्पन्न करेगा उसे दण्डित होना ही पड़ेगा। विरासत में राजनीति पाने वाले और देश को भुला कर तुष्टिकरण की राजनीति करने वाले लोक सेवा का अर्थ क्या समझेंगे?’ एक अन्य ट्वीट में कहा गया, ”मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने भगवा लोक सेवा के लिए धारण किया है। सब कुछ त्याग कर। वे न केवल भगवा धारण करते हैं, बल्कि उसका प्रतिनिधित्व भी करते हैं। भगवा वेशभूषा लोक कल्याण और राष्ट्र निर्माण के लिए है और योगी जी उस पथ के पथिक हैं।

वहीं प्रियंका ने सीएम योगी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘यह कृष्ण भगवान का देश है जो करूणा के प्रतीक हैं। भगवान राम करूणा के प्रतीक हैं। शिव जी की बारात में सब नाचते हैं। इस देश की आत्मा में हिंसा, बदला, रंज इन चीजों की जगह नहीं है। जैसे कृष्ण ने अर्जुन को प्रवचन दिया। महाभारत के युद्ध में जब वह महान योद्धा युद्ध के मैदान में खडे थे। रंज और बदले की बात नहीं की। उन्होंने करूणा और सत्य की बात उभारी।’

कांग्रेस महासचिव ने आगे कहा कि सोमवार सुबह हमारी तरफ से राज्यपाल को एक चिटठी भेजी गई है। कुछ दिनों से हम सब और पूरा प्रदेश देख रहा है कि राज्य सरकार, प्रशासन और पुलिस द्वारा कई जगह अराजकता फैली है। उन्होंने ऐसे कदम उठाए हैं जिनका कोई न्यायिक आधार नहीं है।

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुक, ट्विटर और यू-ट्यूब पर जुड़ सकते हैं.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

Remembering Maulana Azad and his death anniversary

Maulana Abul Kalam Azad, also known as Maulana Azad, was an eminent Indian scholar, freedo…