Home State Uttar Pradesh & Uttarakhand इलाहाबाद और सिद्धार्थनगर में तोड़ी डॉ. अंबेडकर की प्रतिमा, तनाव का माहौल
Uttar Pradesh & Uttarakhand - March 31, 2018

इलाहाबाद और सिद्धार्थनगर में तोड़ी डॉ. अंबेडकर की प्रतिमा, तनाव का माहौल

By: Ankur sethi

इलाहाबाद। देश में मूर्ति तोड़ने का सिलसिला महीने बाद भी नहीं थम रहा है। अब उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद और सिद्धार्थनगर जिलों में कुछ असमाजिक तत्वों ने डॉ. आंबेडकर की मूर्ति को तोड़कर माहौल बिगाड़ने की कोशिश की है। इलाहाबाद के झूंसी में त्रिवेणीपुरम के पास शुक्रवार की रात कुछ लोगों ने बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर दिया। शनिवार सुबह जब लोगों ने खंडित प्रतिमा को देखा हंगामा शुरू हो गया।

पीएम मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह की चेतावनी के बाद भी मूर्तियों के तोड़े जाने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब इस बार उत्तर प्रदेश के इलाबाद में कुछ असमाजित तत्वों ने बीआर अंबेडकर की मूर्ति को नुकसान पहुंचाया है। त्रिवेणीपुरम के झूंसी में कुछ अज्ञात लोगों ने भीमराव अंबेडकर की मूर्ति को तोड़ दिया है। तस्वीर में आप देख सकते हैं कि कैसे अंबेडकर की मूर्ति के धर से सिर को अलग कर दिया है। साथ ही उसके चबुतरे को भी क्षतिग्रस्त किया गया है। लोगों ने नारेबाजी करते हुए दोषियों को पकड़ने की मांग की। फिलहाल घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और मामले की जांच में जुटी हुई है।

उधर, सिद्धार्थनगर जिले में भी आंबेडकर की प्रतिमा तोड़े जाने का मामला सामने आया है। यहां शरारती तत्वों ने आंबेडकर की मूर्ति का एक हाथ तोड़ दिया। यह घटना डुमरियागंज थाना क्षेत्र की है। ग्रामीणों में इस घटना से काफी नाराजगी है। लोगों ने प्रशासन से कार्रवाई

की मांग की है।

पहले भी तोड़ी जा चुकी हैं मूर्तियां

– यूपी के आजमगढ़ जिले में 10 मार्च को बाबा साहेब की मूर्ति तोड़ने का मामला सामने आया था। जिले के कप्तानगंज थाना क्षेत्र के राजापट्टी गांव के पास आंबेडकर की प्रतिमा तोड़ी गई थी। लोगों ने खंड़ित मूर्ति को देख पुलिस को सूचना दी थी।

– इससे पहले मेरठ के मवाना में ग्राम पंचायत की जमीन पर स्थापित अंबेडकर की मूर्ति को कुछ अराजक तत्वों ने तोड़ दिया था। जिसके चलते वहां तनाव की स्थिति बन गयी थी।

– दलित समाज के ग्रामीण आक्रोश में थे जिसके बाद उन्होंने रोड जाम कर दिया था। स्थानीय प्रशासन ने मौके पर पहुंच कर ग्रामीणों को समझाया और नयी मूर्ति स्थापित कराई थी।

– एटा जिले के थाना जलेसर कस्बे के गोला कुआं मोहल्ला में प्रतिमा को अराजक तत्वों ने तोड़ दिया था।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

The Rampant Cases of Untouchability and Caste Discrimination

The murder of a child belonging to the scheduled caste community in Saraswati Vidya Mandir…