ब्राउजिंग टैग

assam

असम: डिटेंशन सेंटर में रखे गए शख्स की मौत, कुल मृतकों की संख्या 29 पहुंची

अवैध प्रवासी होने के कारण असम के डिटेंशन सेंटर में रखे गए एक शख्स की एक बीते शुक्रवार को गोलपाड़ा स्थित गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (जीएमसीएच) में मौत हो गई. इस शख्स को 10 दिन पहले बीमार होने पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, इस शख्स की मौत के साथ ही अब तक राज्य में स्थित डिटेंशन सेंटरों में रखे गए लोगों की होने वाली मौतों की संख्या 29 पहुंच चुकी है. इन डिटेंशन सेंटरों में करीब 1000 लोगों को रखा गया है. एनडीटीवी के अनुसार, मृतक की पहचान 70 वर्षीय फालू दास के रूप में की गई

CAA के खिलाफ आयोजित रैली में गरजे राहुल गांधी, कहा- असम को नागपुर नहीं चलाएगा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) आज (शनिवार) गुवाहाटी में हैं. राहुल ने यहां नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के विरोध में एक रैली को संबोधित किया. संशोधित कानून के विरोध में बीते दिनों असम में काफी हिंसा हुई थी. जिसके बाद शनिवार को राहुल ने गुवाहाटी में रैली की. राहुल ने मोदी सरकार और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर निशाना साधते हुए कहा, 'असम के युवा इस कानून के खिलाफ प्रोटेस्ट कर रहे हैं, बाकी जगहों पर युवा प्रोटेस्ट कर रहे हैं. पुलिस को गोली मारने की क्या जरूरत है.

सिटीज़नशिप बिल: असम के 10 ज़िलों में लगाई इंटरनेट पर पाबंदी

पूर्वोत्तर राज्यों में नागरिकता संसोधन बिल (CAB) के खिलाफ़ सबसे ज़्यादा आवाज़ें उठाई जा रही हैं। बिल के खिलाफ़ जगह-जगह विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं। विरोध की इन आवाज़ों को दबाने के लिए सरकार की ओर से भरपूर प्रयास किए जा रहे हैं। अब असम की सोनोवाल सरकार ने प्रदर्शन के मद्देनज़र 10 जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवा सस्पेंड करने का फैसला किया है। ख़बरों के मुताबिक, असम में शाम 7 बजे से अगले 24 घंटे के लिए मोबाइल सेवाएं रोक दी गई हैं। स्थानीय प्रशासन ने अभी जिन 10 जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवा को सस्पेंड किया है उनमें

नागरिकता संशोधन विधेयक का असल मक़सद

By- गिरीश मालवीय~ बहुत कम लोगों को मालूम है कि इस नए नागरिकता संशोधन विधेयक का सबसे कड़ा विरोध पूर्वोत्तर में हो रहा है, लेकिन हमारा मीडिया इतना बिका हुआ है कि इस बारे में कोई खबर भी नही दिखा रहा है। वह इस नए नागरिकता संशोधन विधेयक के दुष्परिणाम क्या होंगे उसके बारे में जरा सी बात करने को तैयार नही है! पूर्वोत्तर भारत में इसके खिलाफ लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। लेकिन शेष भारत का मीडिया इन प्रदर्शनों को नजरअंदाज कर रहा है। सेवन सिस्टर्स कहे जाने वाले पूर्वोत्तर के हर राज्य में इसके खिलाफ व्यापक असन्तोष है। नगालैंड

पूरे देश में एनआरसी लागू होने पर राजनीतिक माहौल गरमाया!

नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (NRC) के मुद्दे पर असम सरकार केंद्र की मोदी सरकार से सहमत नज़र नहीं आ रही. असम सरकार ने केंद्र सरकार द्वारा जारी की गई NRC को स्वीकार नहीं करते हुए इसे रद्द किए जाने की मांग की है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को पूरे देश में लागू करने की बात कही है इस दौरान अमित शाह ने दावा किया कि धर्म के आधार पर कोई भेदभाव नहीं होगा. इस बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने अमित शाह के जवाब का पलटवार करते हुए लोगों को आश्वासन दिया है कि वह राज्य में इस तरह के नागरिक

“Shabaash” Hima Das !!

By- Dr. Manisha Bangar Your historical record victory is a tight slap on the brahmin-dwijas, their merit logic ,and their caste system :- Centuries of cornering of resources did not help the brahmin-dwija to produce single sportsperson athelete who could have won the race in the history of India. Dear friends !! We have all seen the awesome performance of Hima Das, the 18-year-old girl, who barely 18 months back, ran her first race in district level. Now, this young lass has done the country proud by winning a gold…