ब्राउजिंग टैग

CAA PROTEST

CAA पर BJP सांसद की धमकी- इस कानून को लागू नहीं करने वाले राज्यों में लगेगा राष्ट्रपति शासन

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पहले ही बड़े पैमाने पर लोगों में भ्रम की स्थिति बनी हुई है. यही कारण है कि बीजेपी घर घर जाकर लोगों को जागरुक करने जा रही है. लेकिन वहीं दूसरी तरफ मध्य प्रदेश के होशंगाबाद से बीजेपी सांसद उदय प्रताप सिंह का चेतावनी देते हुए बयान सामने आया है जिसमें वो कह रहे हैं जो राज्य CAA लागू नहीं करेंगे वहां राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है. उन्होंने कहा है कि संसद में कानून पास हुआ है राज्य सरकारें और नागरिक इसे मानने के लिए बाध्य हैं, अगर नहीं पालन होगा तो राष्ट्रपति शासन लगेगा. उन्होंने कहा, 'एक

अगर कोई CAA के खिलाफ प्रदर्शन करता है तो उसे बहुजन विरोधी घोषित कर देना चाहिए: नित्यानंद राय

केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय ने कहा है कि संशोधित नागरिकता कानून का विरोध करने वालों को ओबीसी और बहुजन विरोधी घोषित कर देना चाहिए। गृह राज्य मंत्री राय ने कहा कि पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में उत्पीड़न के कारण वहां से आने वाले लोगों में ज्यादातर अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) और बहुजन वर्ग से हैं। उन्हें सम्मान देने के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी सीएए लेकर आए हैं। केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय ने कहा है कि संशोधित नागरिकता कानून का विरोध करने वालों को ओबीसी और बहुजन विरोधी घोषित कर देना चाहिए। गृह राज्य मंत्री

NRC से खतरे में सभी धर्म के लोगCAA के खिलाफ हिंसा और प्रदर्शन को लेकर विदेशी राजनयिकों ने जताई चिंता

चुनावी रणनीतिकार और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने National Register Of Citizens (एनआरसी) को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की चुप्पी पर सवाल उठाए हैं। न्यूज एजेंसी ‘ANI’ से बातचीत करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि ‘अगर कांग्रेस अध्यक्ष एनआरसी के मुद्दे पर एक भी बयान देतीं तो इससे काफी चीजें साफ हो जातीं…धरना और विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा लेना यह सब ठीक है…आखिर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की तरफ से एनआऱसी को लेकर एक भी बयान क्यों नहीं आय़ा? यह मेरी समझ से बाहर है।’ प्रशांत किशोर का मानना

प्रियंका गांधी का दावा- यूपी पुलिस ने मेरा गला पकड़ा, हाथापाई की

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने दावा किया है कि लखनऊ में महिला पुलिसकर्मी ने उन्हें गले से पकड़ा और हाथापाई की. प्रियंका का दावा है कि जब वह नागरिकता संशोधन क़ानून का विरोध करने पर गिरफ़्तार किए गए रिटायर्ड पुलिस अधिकारी के घर जा रही थीं, तब उन्हें रोकने की कोशिश की गई और इसी दौरान यह सब हुआ. इस संबंध में उत्तर प्रदेश पुलिस ने बयान जारी कर प्रियंका गांधी के दावे को ग़लत बताया है. पुलिस का कहना है प्रियंका गांधी अपने निर्धारित मार्ग पर न जाकर किसी दूसरे मार्ग पर जा रही थीं और सुरक्षा के मद्देनज़र उनका रास्ता रोका

जामिया हिंसा पर आई रिपोर्ट: दिल्ली पुलिस जिम्मेदार, रिपोर्ट को नाम दिया- द ब्लडी संडे 2019

PUDR यानि कि पीपुल्स यूनियन डेमोक्रेटिक फॉर राइटस के छह सदस्यीय टीम ने 13 और 15 दिसंबर 2019 को जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के परिसर में पुलिस की बर्बरता की घटनाओं में 16-19 दिसंबर 2019 तक चार दिवसीय तथ्य-खोज की। विरोध प्रदर्शनों के संदर्भ में क्रूरताएँ हुईं। नागरिकता (संशोधन) अधिनियम 2019 के खिलाफ, संसद द्वारा 11 दिसंबर 2019 को पारित किया गया। रिपोर्ट हमारी जांच पर आधारित है, पुलिस आतंक की तस्वीर प्रदान करती है और पुलिस को असहमति व्यक्त करने के लिए कानूनन बल के रूप में मंजूरी दी जाती है। PUDR ने परिसर में कई

1.5 लाख का चश्मा लगा मोदी ने देखा सूर्यग्रहण, कांग्रेस बोली- देश जलता रहे, अपना फ़ैशन चलता रहे

गुरुवार को 2019 का आखिरी सूर्य ग्रहण लगा। देश के कई हिस्सों में सूर्य ग्रहण का अद्भुत नजारा दिखा। लोगों ने गंगा में डुबकी भी लगाई। इस बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी सूर्य ग्रहण का दीदार किया। सूर्य का दीदार करते हुए मोदी ने ट्वीटर पर अपनी फोटो शेयर कीं। मोदी इस दौरान फॉर्मल कपड़े, लाल रंग का मफलर और काला चश्मा लगाए हुए थे। बताया जा रहा है कि मोदी का ये चश्मा डेढ़ लाख रुपये का है। वैसे तो नरेन्द्र मोदी अपने आपको ‘फकीर’ कहते हैं, लेकिन वो 10 लाख का सूट पहनने के बाद अब डेढ़ लाख का चश्मा पहने हुए हैं। मोदी ने जो चश्मा

नागरिकता कानूनः मंडी हाउस से संसद मार्च शुरू, धारा 144 लागू, भारी फोर्स तैनात

नागरिक संशोधन कानून के विरोध में दिल्ली में कई जगह धरना-प्रदर्शन चल रहे हैं। दो दिनों की शांति के बाद मंगलवार को फिर से राजधानी में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन शुरू हो गया है। इसी के चलते मंडी हाउस में धारा 144 लगा दी गई है। जानकारी के अनुसार आज दिल्ली में सीएए के विरोध में कई धरना और प्रदर्शन होंगे। इन धरना प्रदर्शन के चलते जहां कुछ मार्ग बंद हैं तो कुछ मार्ग मंगलवार को प्रभावित रह सकते हैं। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने लोगों को कई मार्गों से बचने की सलाह दी है। रोड नंबर 13 पर शाहीनबाग कांपलेक्स के सामने स्थानीय

CAA के खिलाफ प्रदर्शनों में हिस्सा लेने पर ITT मद्रास में पढ़ने वाले जर्मनी के छात्र को पड़ा भारी

नए नागरिकता कानून का विरोध कर सुर्खियों में आए आईआईटी मद्रास के एक जर्मन छात्र को देश छोड़ना पड़ा है. खबरें हैं कि जैकब लिंडेनथल को पिछले हफ्ते सरकार विरोधी एक प्रदर्शन में शामिल होने के चलते आव्रजन विभाग से चेतावनी मिली थी. जैकब ने अपने ट्विटर हैंडल से कुछ तस्वीरें पोस्ट की थीं. इनमें वे कुछ नारे लिखी तख्तियां लिए दिख रहे थे. इनमें से एक तख्ती पर लिखा था, ‘1933 से 1943 तक हमने भी ये दौर देखा है.’ आईआईटी मद्रास ने स्‍टूडेंट प्रोग्राम के तहत पढ़ाई करने के लिए भारत आए जर्मन के एक छात्र जैकोब लिंडेंथल को अपने देश वापस जाने

CAA: संविधान और आगे आने वाली पीढ़ी को बचाने के लिए BJP और RSS के एजेंडे को रोकना होगा

By: Shahnawaz Ansari सिटीजनशिप अमेंडमेंट एक्ट(CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटिज़न्स (NRC) का नाम तो आपने ज़रूर सुना होगा। मीडिया लगातार बता रही है कि ये मुसलमान विरोधी है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी तो खुद यह कह चुके हैं कि इसके विरोधियों को उनके कपड़े के आधार पर पहचान की जा सकती है। यदि आप भी ऐसा ही समझते हैं, तो थोड़ा सा समय निकाल कर इस पर्चे को ज़रूर पढ़ें। इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के अनुसार अब असम में NRC लिस्ट से बाहर हुए 19 लाख से ज्यादा लोगों के पास अब वोट देने का अधिकार नहीं होगा। असम NRC लिस्ट से बाहर हुए 19 लाख

CAA PROTEST: दरियागंज हिंसा केस में भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद अरेस्ट

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद शनिवार दोपहर अरेस्ट कर लिए गया है। समाचार एजेंसी PTI-Bhasha के मुताबिक, आजाद की गिरफ्तारी कल पुरानी दिल्ली के दरियागंज इलाके में भड़की हिंसा को लेकर हुई है। पुलिस ने इस मामले में फिलहाल अरेस्ट लोगों का आंकड़ा 16 हो गया है। इससे पहले, CAA को लेकर दिल्ली में विरोध प्रदर्शन के दौरान उन्हें शनिवार तड़के जामा मस्जिद इलाके से हिरासत में लिया गया था। दरअसल, उन्होंने जामा मस्जिद से लेकर जंतर मंतर तक विरोध मार्च निकालने के लिए अनुमति मांगी थी, पर पुलिस प्रशासन ने इससे इन्कार कर दिया था। CAA