तमिलानाडु: बहुजन युवक को उतारा मौत के घाट, कई गिरफ्तार

0
Want create site? With Free visual composer you can do it easy.

तमिलनाडु के चेन्नई से इंसानियत को धूमिल करने वाला मामला सामने आया है. जहां भीड़ ने एक बहुजन युवक को बेरहमी से पीटा. यह घटना बुधवार की है जिसका वीडियों सोशल मीडिया पर खूब तेजी से वायरल हो रहा है. वीडियों में युवक को बेहद ही बुरी तरह से प्रताड़ित करते हुए भी देखा जा रहा है. इस वीडियों के वायरल होते ही पुलिस हरकत में आई और लगभग सात लोगों को हिरासत में लिया है. इसके अलावा पुलिस का कहना है कि इस घटना को अंजाम देने में बाकी लोगों की भी जांच की जा रही है.

वहीं मामले की जांच में जुटे एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि जिस युवक पर हमला हुआ उसका नाम आर शक्तिवेल है. और जिस गांव में उस पर हमला हुआ वहां पर शक्तिशाली वनियार्स का गढ़ है. जो वहां पर दलितों के उपर अपना दबदबा बनाए रहता है. साथ ही दलितों से दुश्मनी के लिए जाना जाता है. और जिस युवक पर हमला हुआ वह द्रविड़ समुदाय से संबंधित है.

इस घटना पर युवक की बहन आर थिवत्री ने पुलिस को बताया कि शक्तिवेल पर हमला केवल इस लिए हुआ क्योंकि वह बहुजन समुदाय से संबंधित था. घटना के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि शक्तिवेल पेट्रोल पंप पर नाइट ड्यूटी करता था. मंगलवार को नाइट ड्यूटी करके वह बुधवार की सुबह घर लौटा. इसके बाद ही उसके पास फोन आया की आधार कार्ड वेरिफिकेशन कराना है वापस आज जाओ. जिसके बाद बुधवार दोपहर करीब 1.30 बजे वह घर से निकला जिसके बाद उसके बाइक में पेट्रोल खत्म हो गया और शक्तिवेल बाइक को धकेलते हुए कुछ दूर पंहुचा तभी उसके पेट में दर्द हुआ और वह शौच करने चला गया. तभी कुछ लोग आकर उसे बेरहमी से पीटने लगे. जब मुझे फोन आया तो मैं वहां पहुंची लेकिन वहां भीड़ मेरे भाई को मारने लगी और मुझे भी लात मारी. घटना को अंजाम देने के दो घंटे बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शक्तिवेल और उसकी बहन को घर भेज दिया. आर थिवत्री ने बताया कि घर पहुंचते ही शक्तिवेल बाइक से नीचे गिर गया. हमे लगा कि वह बेहोश है और हम उसे अस्पताल ले गए.

जिसके बाद डॉक्टर ने बताया कि अस्पताल लाने से पहले ही शक्तिवेल की मौत हो चुकी है. सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस वीडियों के तहत पुलिस ने सात लोगों को हिरासत में लिया है और अन्य की जांच कर रही है. पुलिस का कहना है कि यह घटना जाति की वजह से हुई है या कोई और कारण है यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा. लेकिन पकड़े गए लोगों पर आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया गया है. पुलिस मामले की छानबीन कर जांच में जुटी है.

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुकट्विटरऔर यू-ट्यूबपर जुड़ सकते हैं.)

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

शयद आपको भी ये अच्छा लगे लेखक की ओर से अधिक