Home Uncategorized अनलॉक-4 की गाइंडलाइन जारी, आज से मिलेंगी ये रियायतें
Uncategorized - September 21, 2020

अनलॉक-4 की गाइंडलाइन जारी, आज से मिलेंगी ये रियायतें

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच देश तेजी से अनलॉक मोड में जा रहा है. फिलहाल अनलॉक- 4 चल रहा है। जिसके तहत तमाम तरह की गतिविधियों की छूट दे दी गई है, अनलॉक- 4 भी कई चरणों का रहा। एक सितंबर से लागू हुए अनलॉक- 4 में 7 सितंबर से जहां मेट्रो सेवा शुरू होने की छूट मिली थी तो वहीं अब आज से कुछ और रियायतें मिलने जा रही हैं।

देश के कुछ राज्यों में जहां आज से स्कुल-कॉलेज खुलने जा रहे हैं तो वहीं 20 जोड़ी क्लोन ट्रेनें भी रेल यात्रियों की सुविधा के लिए पटरियों पर दौड़ना शुरू करने जा रही हैं। इसी के साथ ही सबसे बड़ी राहत उन लोगों को मिलने वाली है जिसके यहां कोई कार्यक्रम आयोजित होने वाला होगा क्योंकि आज से तमाम तरह के कार्यक्रमों में लोगों के शामिल होने की सीमा बढ़ाकर 100 कर दी गई है।

केंद्र सरकार की तरफ से जारी की गई गाइडलाइन में कहा गया था कि सामाजिक/शैक्षणिक/खेल/मनोरंजन/सांस्कृतिक/धार्मिक/राजनीतिक समारोह और अन्य मंडली को 100 व्यक्तियों की अधिकतम क्षमता के साथ 21 सितंबर से अनुमति दी जाएगी। यानी अब किसी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए ज्यादा लोगों को अनुमति होगी, अभी तक यह अनुमति महज 50 लोगों की थी जिस वजह से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा था।

साथ ही साथ 21 सितंबर से देश के कई राज्यों में स्कूल-कॉलेज खुलने जा रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्कूलों में बच्चों की हेल्थ को लेकर गाइडलाइंस की घोषणा कर दी है। केंद्र सरकार ने 9वीं से 12वीं क्लास तक के बच्चों के लिए 21 सितंबर से स्कूल-कॉलेज खोलने की अनुमति दी थी, लेकिन यूपी में कोरोना के हालात को देखते हुए फिलहाल ऐसा करने से रोक लगा दी गई है। लेकिन कुछ राज्यों में स्कूलों को खोलने की अनुमति शासन की तरफ से दी जा चुकी है।

बता दें कि केंद्र सरकार ने अनलॉक- 4 की गाइडलाइंस में कहा था कि कंटेनमेंट जोन को छोड़कर 9वीं से 12वीं कक्षा के छात्रों को स्कूल विजिट की अनुमति होगी। राज्य चाहें तो 50 प्रतिशत टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ को स्कूल आने के लिए कह सकते हैं। अनलॉक- 4 की गाइडलाइन में यह भी कहा गया था कि अभिभावकों से लिखित अनुमति के बाद ही नौवीं से लेकर बारहवीं कक्षा तक के छात्र स्कूल जा सकेंगे।

फिलहाल सरकार आदेश तो धीरे-धीरे सभी चीजों को खोलने की दे रही है। लेकिन गरीबों के लिए खाना और बेरोजगारों के लिए रोजगार साथ ही साथ कोरोना पर काबू क्यों नहीं हो पा रहा इन सब मुद्दों पर पूरी तरह चुप है।

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुक, ट्विटर और यू-ट्यूब पर जुड़ सकते हैं.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

क्या नीतीश सरकार में हो रहा था बहजुनों और मुस्लिमों के साथ भेदभाव ?

एक रिपोर्ट के अनुसार 2011 की जनगणना के मुताबिक, बिहार की जनसंख्या 10.38 करोड़ थी। इसमें 82…