Home Uncategorized जन्मदिन विशेष: डॉ. अब्दुल कलाम मिसाइल मैन
Uncategorized - October 15, 2019

जन्मदिन विशेष: डॉ. अब्दुल कलाम मिसाइल मैन

आज देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का जन्मदिवस है. जिनको मिसाइल मैन के नाम से भी जाना जाता है जो कि हमारे देश के एक महान वैज्ञानिक और पूर्व राष्ट्रपति रह चुके है. डॉ. एपीजी अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 तमिलनाडू के रामेशवरम में हुआ था . 15 अक्टूबर को यूनाइटेड नेशन ने 2010 में World Students Day भी घोषित किया तभी से हर साल 15 अक्टूबर को स्टूडेंट्स डे भी मनाया जाता है. वही दुनिया आज भी कलाम के कामों का सम्मान करती है . वही हम आपको बता दे कि डॉ. कलाम हमारे देश के 11वें राष्ट्रपति रह चुके थे और वे Aeronautical इंजीनियर थे. डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम जी को भारत में मिसाइल और परमाणु हथियारों का जनक कहा जाता है.

वही दूसरी तरफ हम आपको कलाम के जीवन से जुड़ी कुछ अनसुनी बाताते हैं. जिनसे अभी तक आप अंजान होंगे। कलाम साहब को फिजिक्स और गणित दोनों ही विषय अपने आप में बहुत पसंद थे. वह सुबह 4 बजे उठकर गणित की प्रैक्टिस करते थे. वही डॉ. कलाम जब स्विट्ज़रलैंड विजिट पर गए थे. तो उनके सम्मान में 26 Mayको साइंस डे के रूप में मनाने की घोषणा करवाई की गई थी. डॉ. कलाम को तमिल में कविताएं लिखने और वीणा बजाने का बहुत शौक था. वही हम बात करें तो बहुत कम लोग जानते हैं. कि कलाम को दो बार, 2003 और 2006 में MTV Youth Icon चुना गया था तो वहीं कलाम अपने पहले बड़े प्रोजेक्ट, SLV-3 में फेल साबित हुए थे. उसी समय वह काफी दुखी हुए थे. उन्होंने उन्ही गल्तियों से आगे बढ़ना सीखा न कि पीछे हटना. उसी के चलते उन्हे बाद में तमाम सफलताएं प्राप्त हुई,

उन्हे राष्ट्रपति के तौर पर कोर्ट द्वारा फांसी की सजा को मंजूरी देना काफी कष्टदायक लगता था.वही हम आपको बता दे कि शुरुआत में कलाम पायलट बनना चाहते थे. और एक बार वह इसके बेहद करीब पहुंच भी गए थे। Indian Air Force की selection list में वे 9वें स्थान पर थे, लेकिन वहा सिर्फ आठ लोगों को ही चुना गया था।

Dr. kalam in missile

वही दूसरी तरफ उन्होंने अलग-अलग विषयों पर कम से कम 15 किताबें लिखी थीं. उनका हमेशा यही कहना था कि, ”लिखना मेरा प्यार है. अगर आप किसी चीज से प्यार करते हैं, तो आप उसके लिए बहुत सारा समय निकाल लेते हैं. और मैं रोज दो घंटे लिखता हूँ, वही आमतौर पर मध्यरात्रि में शुरू करता हूँ लिखना और कभी कभी लिखते हुए मुझे 11 भी बज जाते है कलाम की सबसे प्रिय बात यह भी थी कि वे इंसानों के प्रति दया भाव रखने वाले जानवरों से भी बेहद प्यार करते थे. उनका मानना था कि हमे सभी मनुष्य के साथ प्रेम पूर्वक तरीके से रहना चाहिए वही दूसरी तरफ मुस्लिम होते हुए भी वह शाकाहारी थे. दाल, सांभर और नारियल की चटनी उनका पसंदीदा खाना था .

डॉ. कलाम को पूरी दुनिया अविवाहित के रुप मे जानती है. लेकिन बच्चों के प्रति कलाम का बेंइंतहांप्यार देख एक बार एक पत्रकार ने कलाम से पूछा आपकी कोई अपनी संतान नहीं है. फिर भी आपके अंदर बच्चों से इतना लगाव कैसे है. तो उन्ंहोने पत्रकार को कहा कि आप गलत हैं उनके तीन बच्चे हैं. जिनका नाम पृथ्वी, अग्नि और ब्रम्होस हैं. वही पत्रकार कलाम की यह बात सुन कर हैरान रह गया. अब्दुल कलाम का जीवन दुनिया भर में लाखों-करोड़ों लोगों व छात्रों के लिए प्रेरणा दायक रहा हैं. कलाम हमेसा कहते थे .सपने वे नहीं जो हम सोते हुए देखते हैं .बल्कि वो हैं जो हमे सोने न दें आज वो हमारे बीच नहीं हैं. लेकिन फिर भी वो देशवासियों के हमेशा मन में रहेंगें .

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

The Rampant Cases of Untouchability and Caste Discrimination

The murder of a child belonging to the scheduled caste community in Saraswati Vidya Mandir…