Home Uncategorized नीतीश कुमार के शपथ लेते ही बड़ा बवाल, युवती को जिंदा जलाया मौत
Uncategorized - November 17, 2020

नीतीश कुमार के शपथ लेते ही बड़ा बवाल, युवती को जिंदा जलाया मौत

बिहार में नई नवेली नीतीश सरकार के सामने फिर कानून व्यवस्था का सवाल है. हाजीपुर में छेड़छाड़ पीड़िता की मौत के बाद पूरे इलाके में तनाव बढ़ गया. परिवार वालों का आरोप है कि पुलिस कार्रवाई में ढिलाई कर रही है और आरोपी 15 दिन बाद भी फरार हैं. पुलिस ने चांदपुरा थाने के एसएचओ को निलंबित कर दिया है.

इस मामले में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि चुनावी फायदे के लिए इस अपराध को छुपाया गया – कुशासन पर ताकि सुशासन की नींव रखी जा सके. राहुल ने कहा, किसका अपराध ज़्यादा ख़तरनाक है, जिसने ये अमानवीय कर्म किया? या जिसने चुनावी फायदे के लिए इसे छुपाया ताकि इस कुशासन पर अपने झूठे सुशासन की नींव रख सके?

बता दें की 15 दिन तक झुलसते जख्मों का दर्द सहने के बाद हाजीपुर की पीड़िता दुनिया को अलविदा कह गई. गुनाह यही था कि इसने गांव के दबंगों की गलत हरकतों का विरोध किया था. परिवार के मुताबिक तीन लड़कों ने उस पर केरोसीन डालकर आग लगा दी. घटना के दिन से अस्पताल और पुलिस का चक्कर काट रहे पीड़ित परिवार के सब्र का बांध टूट पड़ा जब बेटी का शव गांव लौटा.

पुलिस की मौजूदगी में देर रात पीड़ित लड़की का अंतिम संस्कार कराया गया. तनाव को देखते हुए गांव में भारी पुलिसबल की तैनाती की गई है, लेकिन पीड़ित परिवार को अब भी आरोपियों से धमकियां मिल रही हैं. उधर आरोपी के घरवालों का कहना है कि उन्हे फंसाया जा रहा है

वहीं हर बार की तरह पुलिस पर इस मामले में लापरवाही के गंभीर आरोप लग रहे हैं , परिवार का साफ कहना है की पुलिस आरोपियों को पकड़ने का महज एक दिखावा कर रही है। जिसके बाद एक SHO को निलंबित कर दिया गया है। अब देखने वाली बात ये होगी की आखिर कब तक आरोपियों की गिरफ्तारी होगी…

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुक, ट्विटर और यू-ट्यूब पर जुड़ सकते हैं.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

तो क्या दीप सिद्धू ही है किसानों की रैली को हिंसा में तब्दील करने वाला आरोपी ?

गणतंत्र दिवस पर किसान संगठनों की ओर से निकाली गई ट्रैक्‍टर रैली ने मंगलवार को अचानक झड़प क…