Home Uncategorized पेट्रोल-डीजल ‘आत्मनिर्भर ‘ हो गए हैं।
Uncategorized - June 25, 2020

पेट्रोल-डीजल ‘आत्मनिर्भर ‘ हो गए हैं।

डीजल हुआ पेट्रोल के पार, क्या यही है पीएम मोदी का वीकास। क्या यही है अच्छे दिन ? क्या यही है वीश्व गुरू होने का मतलब?
रूपये औऱ डालर की बराबरी अब तो आप भूल ही जाइए, क्योकि बीजेपी की राज में डिजल पेट्रोल को लाल आखं दिखा रही है ।


यही तो है मोदी सरकार।।पेट्रोल के दाम बढ़ाये जाने पर बीजेपी नेताओं का बयान आज सचमुच बिपक्ष की आवाज जैसी लगती हैं। आपको याद होगा 2014 से पहले कैसे पेट्रोल का दाम बढ़ने पर भरे दुपहरीया धरना करती थी। चुडीया लेके मनमोहन सींह के पास जाने की बात करती थी ।

यही नही पीएम मोदी से लेके राजनाथ सींह औऱ सभी बीजेपी के बड़े नेता पेट्रोल का दाम बढ़ने पर हाहाकार मचा देते थे।कास मनुवादी मीडिया, इसे डिबेट का हिस्सा बनाती और देश की जनता इसे संज्ञान में लेकर सड़कों पर विरोध प्रदर्शन करती, तो मोदी सरकार खजाना भरने के लिए शायद देश के साथ इतना क्रूर मजाक नहीं करती।

आखिर क्यो कच्चे तेल का दाम 18 रूपये होते हुए सरकार इतना महंगा डीजल बेच रही, क्या मजबूरी है ?
खैर आगे बढ़ते है औऱ आपको बताते है कि पेट्रोल डिजल का दाम बढ़ने से देश में क्या हाल है , देशवासीयों में कितना घुस्सा है ।
रुपया तो डॉलर के बराबर पहुँचना दूर की कौड़ी है, वह तो और गर्त में पहुँच गया है।

आज भारत के इतिहास में डीजल जरूर पेट्रोल से महंगा हो गया है। गांवों में उत्पादन लागत से कम पर अनाज बेचने वाले किसान.. अब गेहूं का खेत पाटने से लेकर आलू भिंडी सींचने तक महंगा डीजल खरीदें।
साथ ही सड़क पर दौड़ रही लाखों ट्रकों के मालिकों की कमाई या तो तेल लेने गई, या आपको सब्जी से लेकर आटा तक के दाम में डीजल की बढ़ी लागत जोड़ लेने की जरूरत है।
हवाई चप्पल वाले जरूर हवाई जहाज में उड़ेंगे।क्योकि भारत मे विमान ईंधन पेट्रोल डीजल के आधे दाम पर मिल रहा है।
सरकार कोरोना की आपदा को अवसर में बदल चुकी है। वह खून पीने पर उतारू है।

आखिर क्यो जो गरीबो के लिए जरूरी है ,किसानो के लिए जरूरी है। वह डिजल इतना महंगा औऱ दूसरी तरफ विमान में अमिर लोग जाते है ,उस विमान का इधन इतना सस्ता क्यो ? क्या यह मान ले ,ये बस अमिरो की सरकार है ।
पीएम मोदी से एक सवाल करना चाहता हू कि क्यो जब आपको 18 रूपये लिटर तेल मिल रहे तो 80 रूपये लिटर में क्यो बेच रहे है।

देश में लगातार 19वें दिन डीजल की कीमत में बढ़ोतरी हुई। तेल विपणन कंपनियों (ओएसमी) ने कीमतों में बढ़ोतरी की। यहां देखने वाली बात यह है कि राजधानी दिल्ली में डीजल की कीमत पेट्रोल से ज्यादा हो गई है। भारतीय इतिहास में पहली बार डीजल 80 के पार पहुंच गया। पिछले 19 दिनों में डीजल की कीमत कुल 10.63 रुपये प्रति लीटर बढ़ी है और पेट्रोल 8.66 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ है।

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुकट्विटर और यू-ट्यूब पर जुड़ सकते हैं.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर जारी किसान आंदोलन को 100 दिन पूरे होने को हैं…