Home Uncategorized भीम ऐप की 5 खास बातें
Uncategorized - April 15, 2017

भीम ऐप की 5 खास बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नागपुर में आज बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की 126वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी. इस दौरान एक कार्यक्रम में पीएम मोदी ने भीम ऐप का इस्तेमाल करने पर ख़ासा जोर दिया और इसके इस्तेमाल के कई फायदे भी बताए. इतना ही नहीं पीएम ने बताया कि कैसे आप भीम ऐप के जरिए पैसा भी कमा सकते हैं.
भीम ऐप के जरिए कोई भी व्यक्ति सिर्फ अंगूठा लगाकर अपने अकाउंट से पैसा ट्रांसफर कर सकता है. लेकिन क्या आप जानते हैं भीम ऐप में ऐसी और भी कई खासियत हैं जो इसे लोकप्रिय बना रही हैं.
1 . भीम ऐप की फ़ाइल का साइज बेहद कम रखा गया है, इसका साइज महज 2 MB रखा गया है जिससे किसी भी एंड्रॉयेड फोन में ये आसानी से और जल्दी डाउलोड और इंस्टाल किया जा सके. भीम ऐप को समझना भी बेहद आसान है. इसके इस्तेमाल के लिए सिर्फ आपका बैंक अकाउंट आपके मोबाइल नंबर से जुड़ा होना चाहिए. साथ ही क्योंकि ये ऐप भारत सरकार की तरफ से चालू किया गया है इसलिए ये ऐप सुरक्षित भी है.
2. भीम ऐप को जब आप अपने फोन में डाउनलोड करेंगे तो इसका एक UPI एड्रेस बन जाएगा. इस UPI नंबर को आप बदल भी सकते हैं और अपने हिसाब से अपना UPI एड्रेस बना सकते हैं. किसी भी भीम ऐप से लेनेदेन में आपको सिर्फ यही एड्रेस बताना होगा. अगर आर भीम ऐप के जरिए सामने वाले व्यक्ति को पैसे भेजना चाहते हैं और अगर दूसरा व्यक्ति भी भीम ऐप का इस्तेमाल कर रहा है तो आपको बस उसका नंबर इस ऐप में डालना होगा. नंबर डालते ही दूसरे व्यक्ति का नाम आपको दिखाई दे जाएगा उसके बाद आप पैसे ट्रांस्फर कर सकते हैं.
3. अगर आप भीम के जरिए पैसे मंगवाना चाहते हैं तो इसका तरीका भी बेहद आसान है. जिस व्यक्ति से आप पैसे मंगवाना चाहते हैं उसे आप रिक्वेस्ट भेजेंगे और अगर वो व्यक्ति अपना पासवर्ड डालकर उसे ओके कर देगा तो आपके अकाउंट में तुरंत पैसे आ जाएंगे.
4. सरकार ने पैसे की लेनदेन की प्रक्रिया को और आसान करने के लिए इसे आधार से भी जोड़ दिया है. यानी की अगर किसी व्यक्ति ने भीम ऐप डाउनलोड नहीं कर रखा है लेकिन उसका आधार कार्ड उसके बैंक अकाउंट से जुड़ा है तो आप उसका आधार नंबर डालकर भी पैसे ट्रांस्फर कर सकत हैं.
5. भीम ऐप के जरिए आप इसका क्यूआर कोड भी जनरेट कर सकते हैं. इसके आपको किसी दुकानदार को पैसे देने या किसी तरह का बिल चुकाने में आसानी हो जाएगी. बस इसके लिए दुकानदार को इसका प्रिंट आउट निकालकर अपनी दुकान पर चिपकाना होगा. जिस व्यक्ति को पेमेंट करनी है वो इस क्यूआर कोड को स्कैन कर पेमेंट कर सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

The Rampant Cases of Untouchability and Caste Discrimination

The murder of a child belonging to the scheduled caste community in Saraswati Vidya Mandir…