Home Uncategorized पढ़िए कड़वी सच्चाई, आज का बहुजन क्या कर रहा है?
Uncategorized - March 8, 2018

पढ़िए कड़वी सच्चाई, आज का बहुजन क्या कर रहा है?

आज का बहुजन क्या कर रहा है ?
दोस्तों ये लेख पढ़ के आप को बहुत ही गुस्सा आएगा ,क्योंकि ये सत्य है और सत्य कड़वा होता है।
लेकिन सत्य से भागना नहीं है। पूरे लेख को बहुत ही ध्यान से पढ़िए, क्योंकि इस लेख को किसी एक इंसान ने नही बल्कि आज के समय के सोशल मीडिया एक्सपर्ट अम्बेडकर टीम द्वारा बहुत ही अनुभव और गहराई से हमारे समाज के हालात और हालत को इस लेख में ब्यान किया है।
तो आइए जानते हैं कि आज हमारा बहुजन समाज किस ओर जा रहा है और क्या कर रहा है….

1- आज का बहुजन मंदिरों में जाकर घंटा बजा रहा है और प्रसाद के लिए लाइन खड़ा है।
2- आज के बहुजन लड़के WHATSAPP, FACEBOOK पर SELFIE GROUP और शायरी GROUP मे घुसे बैठे हैं।
3- आज का बहुजन चौपाल में बैठ कर मनुस्मृति का ज्ञान पा रहा है और उसी चौपाल में ऊंचे स्थान पर बैठे किसी मनुवादी के गुणगान गा रहा है।
4- आज की बहुजन औरतें वर्त रखने में और पूजा पाठ में व्यस्त हैं।
5- आज का बहुजन अपने बच्चे को स्कूल नहीं भेजेगा लेकिन मंदिर जरूर भेजेगा।
6- आज का बहुजन भीम सभा का गठन नहीं करेगा लेकिन ऑर्केस्ट्रा का प्रोग्राम जरूर करेगा।
7- आज का बहुजन युवा बाबा साहब की पोस्ट SHARE या LIKE नहीं करेगा लेकिन लड़की के नाम से बनी FAKE Id वाले लड़के से बात जरूर करेगा।
8- आज का बहुजन मनुवादियों से मिलकर अपने ही पूर्वजों को जलाकर खुश होता है।
9- आज का बहुजन अपने ही लोगों को पीछे खींचने मे लगा हुया है।
10- आज का बहुजन युवा मनुवादियों के साथ मिलकर अपने ही समाज की बहू बेटियों पर टिप्पणी करता है।
11- आज का बहुजन दारू जरूर पियेगा घर के चूल्हे मे आग जले ना जले, दारू जरूरी है।
12- आज का बहुजन मनुवादियों के तलवे चाटते रहता है और उसी में खुश रहता है।
13- आज का बहुजन जागरूक करने वाले को ही गालियाँ निकालता है।
14- आज का बहुजन अपने समाज के लिए कुछ अच्छा करने या समझने में कोई रूचि नहीं रखता।
15- आज का बहुजन अपने समाज के साथ नीचे नहीं बैठेगा लेकिन दारू पीकर गालियों में नालियों में गिर जाएगा।
16- आज का बहुजन लड़की से काम करवाएगा, उसको मंदिर लेके जाएगा लेकिन स्कूल नहीं जाने देगा।
17- आज का बहुजन अम्बेडकर जी, ज्योतिबा फुले, रविदास, बाल्मीकि, बुद्ध जैसे महान लोगों को अपना आदर्श नहीं मानेगा लेकिन फिल्म अभिनेता, अभिनेत्रियों और काल्पनिक भगवानों को अपना सब कुछ मानेगा।
18- आज के बहुजन कुछ लेना देना नहीं माँ बाप भाई बहन बीवी बच्चों से, और समाज के मनुवादियों की बैठक में गप्पें हाँकने जरूर जाएगा।
19- आज का बहुजन सही और गलत को जान लेने के बावजूद भी इस पर ध्यान नहीं देगा।
20- आज का बहुजन ख़ुद पर विश्वास नहीं करेगा लेकिन काल्पनिक भगवानों के चमत्कार का हर रोज इंतजार करेगा।
21- आज का बहुजन अपने ही समाज के लोगों को तरक्की करते हुए नहीं देख सकता और जब किसी बहुजन को नौकरी मिल जाती है तो वो अपने ही बहुजन भाइयों को कीड़े मकौड़े समझता है।
22- आज का बहुजन चुनाव के समय दारू पीकर जा किसी और लालच में आकर कहीं भी वोट डाल देता है और बाद में दाल के भाव बढ़ जाने पर रोता है।
23- आज के बहुजन से वोट लेने के बाद विपक्ष के नेता बहुजन को धरना प्रदर्शन करने के लिए कहते हैं क्योंकि विरोध नहीं होगा तो लोग सोचेंगे कि सभी नेता मिले हुये हैं।
24- आज का बहुजन 5 साल मौजूदा सरकार द्वारा लूटा जाता है और बाकी की कमी पुलिस द्वारा धरने पर बैठे बहुजन की हड्डियाँ तोड़ कर पूरी कर देती।
25- आज का बहुजन बाबा साहब की वजह से नौकरी प्राप्त करता है लेकिन चापलूसी मनुवादियों की करता है।
26- आज का बहुजन अपने समाज के लोगों के खिलाफ दान दहेज के लिए कोर्ट तक चला जाएगा, लेकिन मनुवादी इसका घर भी जला दे तो अवाज तक नहीं उठाता और अगर कोई अवाज उठाता भी है तो उसका साथ नहीं देता।
27- आज का बहुजन जादू टोना में ही सब कुछ ढूंढता है, घर का राशन भले ही ना हो लेकिन जादू टोना के लिए, जागरण के लिए पैसे कहीं से भी ले आएगा।
28- आज का बहुजन धर्म और बाबा बदल-बदल कर देखता हैं कि किस धर्म में या किस बाबा के पास जाने के बाद घर के हालात सुधरते हैं।
29- आज का बहुजन युवा मनुवादियों का सत्कार करेगा और अपने बुजुर्गों के साथ कुत्तों की तरह भौंकेगा।
30- आज का बहुजन ख़ुद का आधार कार्ड भले ही अप्लाई नहीं करना जानता लेकिन सारे वेदों का ज्ञाता है।
31- सरकारी दफ्तरों में अफसरों के सामने भले ही इसकी जुबान ना चले लेकिन बीवी को पीटने और गालियाँ देने में इसका कोई मुकाबला नहीं है।
32- आज का बहुजन अपने समाज में भले ही किसी की बीमारी में भी उसका साथ ना दे लेकिन मनुवादियों के लिए दिन रात चापलूसी करता है।
33- आज का बहुजन युवा आशिक भी है और शादी हो ना हो उस से लेकिन लड़की को महंगे महंगे GIFT जरूर देगा भले ही घर में दो दिन चूल्हा ना जले।
34- आज का बहुजन युवा मेहनती भी है, लड़की की हर पोस्ट पर LIKE, COMMENT और SHARE करना अपना फर्ज समझता है बस शर्त ये है कि लड़की POST पे बोल दे कि SHARE करो तो अपना नंबर दूँगी।
35- आज का बहुजन रात रात भर मोबाइल पर लड़कियों से बात करता है लेकिन मां बाप का हाल चाल पूछने के लिए वक़्त नहीं है।
36- आज का बहुजन काल्पनिक भगवानों की मूर्ति पूजा और मूर्ति स्थापित करने के लिए जी जान एक कर देगा लेकिन अपने घर में उसकी फोटो तक नही लगाएगा जिसकी वजह से दो वक़्त की रोटी का जुगाड़ हुआ।
37- आज का बहुजन काल्पनिक भगवानों के दर्शन करने के लिए हजारों मील की यात्रा करेगा लेकिन किसी बहु बेटी की इज़्ज़त बचाने के लिए एक कदम आगे नहीं आएगा।
38- आज का बहुजन मनुवादी के गलती करने पर उसका साथ देगा और जब अपने समाज के किसी भाई से अनजाने में भी गलती हो जाए तो भी ये मनुवादी का ही साथ देगा।
39- आज का बहुजन ज्ञान विज्ञान पर विश्वास न करके चमत्कार की उम्मीद में ही अपना सारा जीवन व्यतीत करता है।
40- आज का बहुजन धोखे में रह कर जीना चाहता है वो शुरूआत करने से डरता है कि कहीं मेरे अपने ही उसका साथ ना छोड़ दें।

लेकिन एक बात समझ नहीं आई के मेरा बहुजन भाई आज तक किसी डेरे का बाबा या नेता क्यूँ नहीं बन सका?

दोस्तो बहुत सी बातें ऐसी है जो ये बहुजन रोज करता है अगर लिखते जाएँ तो एक और ग्रंथ तैयार हो जाएगा।

हम किसी की बेबस जिंदगी और जख्मों को कुरेदना नहीं चाहते इस पोस्ट के जरिए लेकिन समय की नजाकत को समझिए और जागरूक हो जाईये।
बहुत दुख होता है जे सोचकर कि जो कभी इस देश के राजा महाराजा हुआ करते थे वो आज शूद्र कहलाते हैं, हम अपने ही देश में नौकर बनकर बैठे हैं।
हम हर कदम, हर जगह, हर मोड़ पे, आपका साथ देने के लिए तैयार है लेकिन आपको भी अंधविश्वास जैसी परंपरा को तोड़ कर वास्तविक जीवन में प्रवेश करना होगा।
आने वाली पीढ़ियों के बारे में सोचिये। क्या होगा उनका जो अभी से इतना बुरा हाल है। बहुजन समाज सरकारों के भरोसे ना बैठे, कोई कुछ नहीं करेगा खुद आगे बढ़ो, किताबें पढ़ो, नशे से दूर रहो, समाज को जागरूक करो, संगठित रहो, संधर्ष करो।

हमारे बहुजन सरकारी कर्मचारियों, उच्च प्राइवेट कर्मचारों से आहवान है कि अपनी सैलरी में से महीने के 200 से 500 या इससे ज्यादा अपनी इच्छानुसार समाज के लिए रखें। अपनी लोकल स्तर पर संस्था बनाये वहां पैसा जमा करके गरीब छात्रों को स्कूल तक पहुचाएं, डिग्री कालेज शिक्षा में दिक्कत आ रही हैं तो अपनी संस्था के स्तर से मदद करें। गरीब बहुजन कन्याओं की शादी के लिए मदद दें। नशा मुक्ति अभियान चलाएं। जमीन पर काम करें। सोशल मीडिया, फेसबुक, व्हासएप्प पर रहें, ज्ञान की बात करें पर जमीन पर भी काम करें तभी समाज का भला हो सकता हो।

 

( जानकारी सोशल मीडिया से प्राप्त )

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

The Rampant Cases of Untouchability and Caste Discrimination

The murder of a child belonging to the scheduled caste community in Saraswati Vidya Mandir…