Home Language Hindi पाकिस्तान का फिर उमड़ा प्रेम, इमरान खान ने संसद में लादेन को बताया शहीद

पाकिस्तान का फिर उमड़ा प्रेम, इमरान खान ने संसद में लादेन को बताया शहीद

हमेशा अपनी करतूत और बयानबाजी को सुर्खियों में रहने वाला पाकिस्तान एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है। दराअसल पाकिस्तान ने एक बार फिर यह साफ कर दिया है कि आतंकवादियों के लिए उसके दिल में बेशुमार प्यार है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि प्रधानमंत्री इमरान खान ने संसद में अलकायदा के सरगना रहे आतंकवादी ओसामा बिन लादेन को शहीद बताया है। उनका कहना है कि पाकिस्तान को आतंक के खिलाफ जंग में अमेरिकी का साथ नहीं देना चाहिए था। इमरान खान के इस लादेन प्रेम के सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर इमरान खान को जमकर ट्रोल किया जा रहा है।

संसद में इमरान खान ने अमेरिका पर हमला बोलते हुए कहा कि अमेरिकी सेना ने बिना हमें कुछ बताये पाकिस्तान में घुसकर लादेन को शहीद कर दिया। जिसके चलते पूरी दुनिया ने हमें गालियां दीं और पाकिस्तान को बेवजह की शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा। उन्होंने आगे कहा, ‘आतंकवाद के खिलाफ अमेरिकी जंग में हमने अपने 70 हजार लोगों को खो दिया है। लेकिन जब अमेरिकी सेना ने पाकिस्तान में घुसकर लादेन को शहीद किया, तो हमें इस बारे में बताया तक नहीं गया। यह पाकिस्तानियों के लिए शर्मिंदगी का विषय रहा है।

जानकारी के लिए बता दें की गौरतलब है कि अमेरिकी सेना ने पाकिस्तान के एबटाबाद में ओसामा बिन लादेन को घर में घुसकर 2 मई 2011 को मार गिराया था। इस खुफिया अमेरिकी ऑपरेशन को CIA के सहयोग से US सील कमांडो ने अंजाम दिया था। अमेरिका के अनुसार लादेन अमेरिका में हुए 9/11 हमले का मास्टरमाइंड था। बाद में उसके शव को समुद्र में दफना दिया गया था।

इस ऑपरेशन के बाद लादेन को पनाह देने के लिए पाकिस्तान पर उंगलियां उठीं, क्योंकि जहां लादेन को मारा गया वह स्थान पाकिस्तान सेना अकादमी से ज्यादा दूर नहीं था। हालांकि पाकिस्तान यह कहता रहा कि उसे लादेन के बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

लेकिन 2014 में कई अखबारों में ये साफ कहा गया था की ISI महानिदेशक अहमद शुजा पाशा को एबटाबाद में लादेन की मौजूदगी के बारे में पता था। लेकिन पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान का ये बयान पाकिस्तान के लिए शर्मनाक बयान है।

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुक, ट्विटर और यू-ट्यूब पर जुड़ सकते हैं.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

क्या RSS के इशारो पर काम कर रहा है सुप्रीम कोर्ट? संदर्भ प्रशांत भूषण को दोषी मानना!

संघ के आंगन में नाच रहा है, सुप्रीम कोर्ट- संदर्भ प्रशांत भूषण को दोषी ठहराना सुप्रीम कोर्…