घर सामाजिक आरोग्य कोरोना : सर्व देश डब्ल्यूएचओच्या निष्पक्ष तपासणीवर सहमत झाले

कोरोना : सर्व देश डब्ल्यूएचओच्या निष्पक्ष तपासणीवर सहमत झाले

विश्व स्वास्थ्य संगठन के कोरोना वायरस की भूमिका की निष्पक्ष जांच के लिए मंगलवार को भारत समेत 100 देश तैयार हो गया है. WHO की भूमिका पर यूरोपीय संघ ने 100 देशों की ओर से प्रस्ताव पेश किया था. जिसके बाद प्रस्ताव पर WHO की वार्षिक बैठक में मंजूरी दे दी गई.

खरंच, विश्व स्वास्थ्य सभा की बैठक में कोविड-19 महामारी को लेकर डब्ल्यूएचओ की प्रतिक्रिया की स्वतंत्र जांच की मांग की गई है. इसमें कहा गया है कि WHO को स्वास्थ्य आपातकाल घोषित करने में इतना समय क्यों लगा. इस जांच में यह देखा जाएगा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन कहां चूक गया कि इस महामारी के लिए समय रहते दुनिया को अगाह ना कर सका.

वहीं चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी कोविड-19 महामारी पर डब्ल्यूएचओ की प्रतिक्रिया की जांच को तैयार हो गए है. ते म्हणाले, चीन डब्ल्यूएचओ की अगुवाई में कोरोना महामारी में वैश्विक कार्रवाई की समीक्षा का समर्थन करता है. चीन जांच के लिए तैयार है, लेकिन चीन से शर्त रखते हुए कहा कि यह जांच स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से की जानी चाहिए. इस बीच उन्होंने यह भी घोषणा की कि उनका देश इस महामारी से जंग के लिए दो साल में दो अरब डॉलर की मदद भी देगा. हालांकि यह मदद विशेष रूप से विकासशील देशों की होगी.

बता दें कि पूरी दुनिया को अपने चपेट में लेने वाली महामारी कोरोना वायरस आखिर कैसे और किस तरह से इंसानों तक पहुंचा. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसकी रोकथाम के लिए क्या कदम उठाए और उसकी भूमिका क्या रही है. जिसके लिए अब दुनिया 100 देश ऐसे ही सवालों का जवाब मांग रहे हैं.

(आता राष्ट्रीय भारत बातम्या फेसबुक, ट्विटर आणि YouTube आपण कनेक्ट करू शकता.)

प्रतिक्रिया व्यक्त करा

आपला ई-मेल अड्रेस प्रकाशित केला जाणार नाही.

हे देखील तपासा

बालेश्वर यादवची संपूर्ण कथा !

बाय_मनीश रंजन बालेश्वर यादव भोजपुरी जगातील पहिले सुपरस्टार होते. त्यांची गायकी लोकगीते खूप आहेत …