Home Social Health कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 8500 कोरोना केस आए सामने

कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 8500 कोरोना केस आए सामने

कोरोना की मार देश पर बरकरार है जिसकी वजह से 5 हजार के करीब लोग अपनी जान गंवा चुके है। तो वहीं मौत का आंकड़ा भी मरीजों की संख्या की तरह देश में बढ़ता जा रहा है। वहीं एक बार फिर कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या ने नया रिकॉर्ड बनाया है। दराअसल दिल्ली हो या महाराष्ट्र लेकिन कोई राज्य ऐसा नहीं है जहां मरीजों की संख्या में इजाफा ना हो रहा हो।

दराअसल पिछले 24 घंटों में कोरोना के करीब 8400 केस सामने आए है। और इस आंकड़ों पर कब रोक लगेगी ये कोई नहीं जानता। तो दूसरी तरफ कोरोना की वजह से मरीजों की मौत हो रही है। जिसकी संख्या करीब 5 हजार के पार जा चुकी है। तो वहीं कोरोना केंद्र सरकार के कई नेताओं तक भी पहुंच चुका है।                          

इसी के साथ अब देश में संक्रमितों की संख्या 1 लाख 82 हजार 143 के आंकड़े पर पहुंच गई। साथ ही कोरोना से मरने वालों की संख्या भी 5164 हो गई। देश में सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों की बात की जाए, तो महाराष्ट्र में हालात काफी खराब हैं। यहां अब पीड़ितों की संख्या 65 हजार के पार है। वहीं, 24 घंटे में 99 नई मौतों के साथ अब मृतकों की संख्या 2197 हो गई है। राज्य में पिछले दो हफ्तों से हर दिनों से लगातार हर दिन दो हजार नए केस सामने आ रहे हैं।

दूसरा नंबर तमिलनाडु का है, जहां एक दिन में अब अब तक के 938 नए संक्रमित पाए गए हैं। इसी के साथ राज्य में अब पीड़ितों का आंकड़ा 21 हजार 184 पर पहुंच गया। तीसरे नंबर पर 18 हजार 549 के के साथ दिल्ली है। हालांकि, अगर तमिलनाडु और दूसरे राज्यों में मौत की तुलना की जाए, तो तमिलनाडु के हालात काफी बेहतर हैं। चौथे नंबर पर गुजरात की 1007 और तीसरे नंबर पर दिल्ली की 416 मौतों के मुकाबले तमिलनाडु में 163 लोगों की ही जान गई है। लेकिन सोचने वाली बात ये ही की जो लोग इस वायरस को रोकने की कोशिश कर रहे है सरकार उन्हे भी ऐसा करने से रोक रही है।

लेकिन भारत के लिए एक सुकून देने वाली खबर यह है कि अब तक कुल मरीजों में से करीब 47 फीसदी यानी करीब 86 हजार 936 लोग ठीक हो कर घर लौट चुके हैं। पिछले 24 घंटे में ही करीब 4300 मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं। लेकिन सरकार की लापरवाही का सबसे ज्यादा नुकसान मजदूरों को अपनी जान और अपना रोजगार खोकर चुकानी पड़ी ह

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

तो क्या दीप सिद्धू ही है किसानों की रैली को हिंसा में तब्दील करने वाला आरोपी ?

गणतंत्र दिवस पर किसान संगठनों की ओर से निकाली गई ट्रैक्‍टर रैली ने मंगलवार को अचानक झड़प क…