Home International Political डिंपल यादव ने की प्रवासी मजदूरों की मदद, योगी सरकार की फिर भी नही टूटी नींद!
Political - May 25, 2020

डिंपल यादव ने की प्रवासी मजदूरों की मदद, योगी सरकार की फिर भी नही टूटी नींद!

दुनियाभर में जहां कोरोना संकट से हाहाकार मचा हुआ है. वहीं अब कुछ बड़े नेता-नेत्री प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए आगे आए है. इनमें से खुद मजदूरों के बीच आकर मदद करने वाली सपा प्रमुख अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव का नाम भी जुड़ गया है.

दरअसल, कन्नौज की पूर्व सांसद और अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव शनिवार सुबह सड़क पर उतरकर मजदूरों की मदद करते हुए स्पॉट हुई. लेकिन खुद सड़कों पर उतरकर मजदूरों के बीच का सेवा-भाव देखने वाला था. ऐसे कुछ ही राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता और नेता है जो मजदूरों की मदद के लिए जमीनी स्तर से जुड़े हुए हैं. लेकिन किसी भी दल का कोई बड़ा नेता इस तरह सड़क पर मजदूरों को खाना बांटते नज़र नही आ रहा. ऐसे में डिंपल यादव के जज्बे की सराहना हो रही है.

वहीं अब डिंपल यादव के इस कदम की ट्वीटर पर जमकर तारीफ हो रही हैं. ट्वीटर पर डिंपल के खाने का पैकेट मजदूरों को बांटते हुए वीडियो भी जमकर वायरल हो रहा है. वहीं इससे पहले उनके पति और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी प्रवासी मजदूरों के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया था. मुज्जफरनगर दुर्घटना में मारे गए मजदूरों, पैदल घर पहुंच रहे मजदूरों और मृत मजदूरों के परिवार को अपनी तरफ से एक-एक लाख रुपए की आर्थिक सहायता दे रहे हैं

बता दें कि अखिलेश यादव ने दरभंगा की ज्योति जो अपने पिता को साईकल पर बिठा कर ले गई इसे एक लाख की आर्थिक सहायता की. तो दूसरी ओर सूटकेस पर सो रहे बच्चे के परिवार को भी अखिलेश यादव ने एक लाख रुपये दिए हैं, जिससे बच्चे की परवरिश में परिवार को थोड़ी राहत मिल सके. लिहाजा अखिलेश यादव आज सत्ता में नही है फिर भी वे ये सराहनीय कदम उठा रहे है. ऐसे में केंद्र और यूपी सरकार को मजदूरों की मदद के लिए जमीनी स्तर पर रहकर सोचना चाहिए और गरीबों के हाथ मे पैसे देकर उनके जीविका का प्रबंध करना चाहिए, जो कि फिलहाल कोसो दूर है.

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुक, ट्विटर और यू-ट्यूब पर जुड़ सकते हैं.)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बालेश्वर यादव की पूरी कहानी !

By_Manish Ranjan बालेश्वर यादव भोजपुरी जगत के पहले सुपरस्टार थे। उनके गाये लोकगीत बहुत ही …