Home International Political कब होगी ‘मन की बात’ में राष्ट्र रक्षा और सुरक्षा की बात? – राहुल गांधी
Political - June 29, 2020

कब होगी ‘मन की बात’ में राष्ट्र रक्षा और सुरक्षा की बात? – राहुल गांधी

कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ पर तंज कसा है। एक ट्वीट में राहुल गांधी ने लिखा है कि राष्ट्र रक्षा और सुरक्षा की बात कब होगी।


आपको बता दे कि प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात में देश की जनता को संबोधित किया।


कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कुछ दिन पहले चीन मुद्दे पर भी ट्वीट कर प्रधानमंत्री से जवाब मांगा था। उन्होंने कहा था कि देश के लोग प्रधानमंत्री से ‘सच’ सुनना चाहते हैं। देश में लगातार बढ़ रही पेट्रोल और डीजल की कीमतों को लेकर भी राहुल गांधी ने बीजेपी सरकार को घेरा है। उन्होंने एक औऱ ट्वीट में लिखा, मोदी सरकार ने कोरोना महामारी और पेट्रोल-डीज़ल की क़ीमतें “अनलॉक” कर दी हैं।


आपको बता दें, राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार की नाकामियों को लेकर सवाल खड़े कर रहे हैं। लद्दाख की गलवान घाटी में चीन से हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिकों की शहादत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लगातार जवाब मांगे जाने के बाद शनिवार को उन्होंने कोरोना वायरस संक्रमण के मामले पर सवाल खड़ा किया। राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार के पास कोरोना से निपटने के लिए कोई योजना नहीं है।

कोरोना को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘कोरोना वायरस देश के नए हिस्सों में तेजी से फैल रहा है। भारत सरकार के पास इससे निपटने का कोई प्लान नहीं है। प्रधानमंत्री खामोश हैं। उन्होंने महामारी के सामने आत्मसमर्पण और इससे निपटने से इनकार कर दिया है।’

राहुल गांधी ने कोरोना वायरस के मसले पर मोदी सरकार पर ऐसे समय निशाना साधा, जब देश में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा भी पांच लाख से ज्यादा हो चुका है औऱ कभी भी 6 लाख पहुंच सकता है। ऐसे में माना जा रहा है कि मोदी सरकार हर तरफ से घीर चुकी है।

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुकट्विटर और यू-ट्यूब पर जुड़ सकते हैं.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

देश में कोरोना का नया रिकार्ड ,एक दिन में इतने हजार मामले कैसे?

देश में कोरोना लगातार पैर पसारता जा रहा है। मौत का आकड़ा 43 हजार के पार चला गया है । लेकिन…