घर चालू घडामोडी अनलॉक -2 मार्गदर्शकतत्त्वे जाहीर, तेथे विश्रांती असेल आणि येथे काटेकोरपणे केले जाईल

अनलॉक -2 मार्गदर्शकतत्त्वे जाहीर, तेथे विश्रांती असेल आणि येथे काटेकोरपणे केले जाईल

कोरोनाचा आक्रोश किती दिवस चालू राहील हे कोणालाच माहीत नाही, पण हा कोरोना जवळपास संपला आहे 12 कोट्यावधी लोकांचा रोजगार हिरावून घेतला. म्हणून तिथे 15 हजार से ज्यादा लोगों की मौत इस महामारी की वजह से हुई। तो वहीं अब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अनलॉक-2 की गाइडलाइंस जारी कर दी है, बता दें की नई गाइडलाइन 1 जुलाई से लागू होंगी।

खरंच, अनलॉक-1 की अवधि 30 जून को समाप्त हो रही है। इसी के साथ अनलॉक-2 का ऐलान किया गया है जिसमें कई गतिविधियों में छूट होगी लेकिन पाबंदियों के साथ। कंटेनमेंट जोन में सख्ती रहेगी जबकि कंटेनमेंट जोन से बाहर के इलाकों में छूट दी जाएगी। अब उन चीजों पर नजर डालते है जहां अनलॉक- 2 में रियायतें मिलेंगी। लेकिन अब देखने वाली बात ये होगी की कई राज्य ऐसे भी है जहां सही से पालन इन अभी भी नहीं हो पा रहा है।

1- अनलॉक- 2 में कंटेनमेंट जोन के बाहर कुछ चीजों के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से छूट दी गई है.-

2-  सीमित संख्या में घरेलू उड़ानों और यात्री ट्रेनों की अनुमति दी गई है. इनका संचालन आगे भी जारी रहेगा.

3- वंदे भारत मिशन के तहत सीमित तरीके से यात्रियों की अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा की अनुमति दी गई है. आगे भी इसे बढ़ाया जाएगा.

4- नाइट कर्फ्यू का समय बदला गया है और अब यह रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक होगा.

5- दुकानों में 5 लोग से ज्यादा भी जुट सकते हैं लेकिन इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखना होगा.

6- 15 जुलाई से केंद्र और राज्य सरकारों के ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट में कामकाज शुरू हो सकेगा.

7- अलग-अलग प्रदेश सरकारों के साथ परामर्श के बाद फैसला हुआ कि स्कूल-कॉलेज और कोचिंग संस्थान 31 जुलाई तक बंद रखे जाएंगे।

तो वहीं अनलॉक-2 में कंटेनमेंट जोन के भीतर 31 जुलाई तक लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जाएगा। लेकिन कंटेनमेंट जोन के बाहर भी सबकुछ खुलने वाला नहीं है, अभी भी तमाम ऐसी चीजें हैं जिसे शुरू करने की इजाजत नहीं दी गई है। जिसमें मेट्रो रेल, सिनेमा हॉल्स, जिम,स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क,थिएटर,वेळा,ऑडिटोरियम,असेंबली हॉल शामिल है।

लेकिन अभी भी सवाल ये है की उन लोगों का क्या जिन लोगों ने अपना रोजगार खो दिया। सरकार ने उनके लिए किसी तरह की सुविधा का एलान नहीं किया। अब देखने वाली बात ये होगी की आखिर आने वाले समय में कोरोना क्या रूप लेता है।

(आता राष्ट्रीय भारत बातम्या फेसबुक, ट्विटर आणि YouTube आपण कनेक्ट करू शकता.)

प्रतिक्रिया व्यक्त करा

आपला ई-मेल अड्रेस प्रकाशित केला जाणार नाही. आवश्यक फील्डस् * मार्क केले आहेत

हे देखील तपासा

तसाच दीप सिद्धू हा आरोपींनी शेतकरी मेळाव्यात हिंसा घडवून आणला ?

मंगळवारी शेतकरी संघटनांनी आयोजित केलेल्या ट्रॅक्टर रॅलीमुळे प्रजासत्ताक दिनी अचानक संघर्ष झाला…