घर चालू घडामोडी चीन आणि भारत यांच्यातील परिस्थिती आणखी बिकट होईल का? ?

चीन आणि भारत यांच्यातील परिस्थिती आणखी बिकट होईल का? ?

जहां एक तरफ देश कोरोना की मार झेल रहा है तो वहीं दूसरी तरफ भारत और चीन के बीच वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (LAC)पर तनाव की स्थिति बरकरार है। दराअसल ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि चीन दादागीरी दिखाकर भारत से बॉर्डर पर इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण बंद करने को कह रहा है। जिसको लेकर भारत पर दबाव बनाने के लिए चीन ने सीमा पर 5000 सैनिक तैनात कर दिए हैं।

तो वहीं भारत ने भी उसी पैमाने पर वहां सैनिक तैनात कर दिए हैं। ऐसे में दोनों देशों के बीच तनाव कम होता नहीं दिख रहा। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या दोनों देशों युद्ध जैसे हालात बनते दिख रहे हैं? समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार डिफेंस एक्सपर्ट पीके सहगल ने भारत और चीन के बीच तनाव को लेकर अहम जानकारी दी है।लेकिन दूसरी तरफ ऐसा लग रहा है की पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति की मुलाकात की दोस्ती भी महज एक छलावा थी।

पीके सहगल तनाव का कारण बताते हुए कहा कि चीन ने भारत के सामने 5000 सैनिक तैनात कर दिए हैं। भारत ने भी उतने ही पैमाने पर उत्तराखंड और लद्दाख में सैनिक तैनात कर दिए हैं। चीन दबाव डाल रहा है कि भारत जो उनके तरफ इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहा है वो उसे बंद करे। भारत ने इसे बंद करने से साफ मना कर दिया है क्योंकि चीन ने अपनी तरफ बहुत बड़ा कंस्ट्रक्शन किया है भारत तो बस उसकी बराबरी करने की कोशिश कर रहा है।

डिफेंस एक्सपर्ट पीके सहगल ने दोनों देशों के बीच युद्ध जैसे हालात पर बड़ी बात कही। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार उन्होंने इस मुद्दे पर कहा कि उन्हें नहीं लगता कि दोनों देशों में किसी प्रकार का युद्ध होगा। युद्ध करना किसी के भी हित में नहीं है।चीनी सैनिक इसके अलावा गलवां नाला एरिया में भी डेरा डाले हुए हैं। चीन की तरफ से सड़क निर्माण भी हो रहा है। भारत की तरफ से इन गतिविधियों के बारे में शिकायत दर्ज कराई गई है, लेकिन अभी तक कोई असर होता नहीं दिख रहा है।

लेकिन जहां देश एक तरफ अभी कोरोना से नहीं उभर नहीं पाया है तो वहीं दूसरी तरफ युद्ध के हालात पैदा होते हो रहे है।अगर ऐसा हुआ तो देश को जोरदार झटका लगेगा। लेकिन अगर जल्द ही दोनों देशों के बीच चल रहे तनाव को खत्म नहीं किया गया तो दोनों देशों को ही इस तनाव का खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

(आता राष्ट्रीय भारत बातम्या फेसबुक, ट्विटर आणि YouTube आपण कनेक्ट करू शकता.)

प्रतिक्रिया व्यक्त करा

आपला ई-मेल अड्रेस प्रकाशित केला जाणार नाही.

हे देखील तपासा

तसाच दीप सिद्धू हा आरोपींनी शेतकरी मेळाव्यात हिंसा घडवून आणला ?

मंगळवारी शेतकरी संघटनांनी आयोजित केलेल्या ट्रॅक्टर रॅलीमुळे प्रजासत्ताक दिनी अचानक संघर्ष झाला…