Home Social Health पहले दिन कोविन एप पर 1.32 करोड़ लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन, वैक्सीनेशन की नहीं मिली तारीख
Health - Hindi - Social - 3 weeks ago

पहले दिन कोविन एप पर 1.32 करोड़ लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन, वैक्सीनेशन की नहीं मिली तारीख

1 मई से 18-44 साल के ग्रुप को वैक्सीन लगनी है. इससे पहले कोरोना वॉरियर्स और 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाने की इजाजत थी.

18 साल से 44 साल के लोगों को भी कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया बुधवार शाम 4 बजे से शुरू हो चुकी है. टीकाकरण के लिए पहले दिन ही 1.32 करोड़ लोगों ने रजिस्ट्रेशन करा लिया है. लेकिन जिन लोगों ने रजिस्ट्रेशन करा लिया है, उन्हें अभी अपॉइंटमेंट नहीं मिली है. यानी कि उन्हें अभी वैक्सीनेशन की तारीख और टाइम स्लॉट के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है.

18+ वालों के वैक्सीनेशन के लिए कोविन और आरोग्य सेतु एप के अलावा कोविन पोर्टल पर भी रजिस्ट्रेशन हो रहा है. लेकिन लोगों का आरोप है कोविन एप पर रजिस्ट्रेशन के दौरान उन्हें कई परेशानी भी हुई हैं. इसके अलावा कोविन पोर्टल पर भी समस्याओं की शिकायत मिलती रही. कुछ लोगों को ओटीपी के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा. इन समस्याओं को लेकर सोशल मीडिया पर कई हैशटैग ट्रेंड होते रहे. लोगों ने स्क्रीनशॉट भी शेयर किए. कुछ यूजर्स को ये भी मैसेज मिला कि अभी सिर्फ 45+ लोगों का ही रजिस्ट्रेशन हो रहा है.

वेबसाइट और एप में दिक्कत की शिकायत के बाद आरोग्य सेतु ने ट्वीट कर कहा है कि कोविन पोर्टल अब ठीक से काम कर रहा है. शाम के चार बजे मामूली दिक्कत आई थी. 18 साल से अधिक उम्र के लोग रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं.

इसके साथ ही पहले से ही राज्य सरकारें कहती रही हैं कि उनके पास वैक्सीन का पर्याप्त स्टॉक नहीं है. इतने ज्यादा लोगों का रजिस्ट्रेशन कुछ दिनों में सरकार के लिए परेशानी का कारण भी बन सकता है.

जनसत्ता की रिपोर्ट के मुताबिक, सूत्रों का कहना है कि कोविन पोर्टल पर जैसे ही 18 साल से अधिक लोगों का टीकाकरण के लिए पंजीकरण शुरू हुआ तो लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। लोगों को ओटीपी नहीं मिल पा रहा था। इस दौरान हर मिनट करीब 27 लाख लोग पोर्टल पर पहुंच रहे थे। हालांकि जल्द ही समस्या का समाधान हो गया है और लोगों का पंजीकरण शुरू हो गया। अभी लोगों को टीकाकरण के लिए समय नहीं दिया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक जैसे राज्य सरकारें और निजी अस्पताल टीकाकरण केंद्रों की मंजूरी देंगे लोगों को टीकाकरण के लिए समय मिलने लगेगा। सरकार की ओर से लोगों को धैर्य बनाए रखने के लिए कहा गया है।

इस समय देश में कोरोना की दो वैक्सीन भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड उपलब्ध है. एक मई से नागरिकों के लिए कोरोना वायरस रोधी टीकों के प्रकार और उनकी कीमतें कोविन पोर्टल पर दिखाई जाएंगी. 18 से 44 उम्र के लोग किसी भी निजी कोविड टीकाकरण केंद्र (सीवीसी) से पैसे देकर टीका लगवा सकेंगे. 45 साल से कम आयु के नागरिक राज्य या केंद्र शासित प्रदेश में किसी भी सरकारी सीवीसी से टीका लगवा सकेंगे.

(अब आप नेशनल इंडिया न्यूज़ के साथ फेसबुकट्विटर और यू-ट्यूब पर जुड़ सकते हैं.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

ना सुरक्षा ना इंश्योरेंस फिर भी कोरोना से लड़तीं आशा-आंगनबाड़ी वर्कर्स

कोरोना की दूसरी लहर गांवों तक पहुंच चुकी है। हर घर में बुखार-खांसी के मरीज हैं। इन मरीजों …