घर राज्य बिहार & झारखंड कोरोनाने विनाश केले, लॉकडाउन 3 शेवटच्या दिवशी कोरोनाची सर्वात वाईट घटना

कोरोनाने विनाश केले, लॉकडाउन 3 शेवटच्या दिवशी कोरोनाची सर्वात वाईट घटना

कोरोना कम होने की जगह लगातार बढ़ता जा रहा है।जहां एक और इस वैक्सीन की दवाई की तलाश जारी है तो वहीं दूसरी तरफ कई देश के वैज्ञानिक छोटी-मोटी दवाईयों से काम चलाने की कोशिश कर रहे।तो वहीं भारत में कोरोना लगातार बढ़ता जा रहा है।दरासल कोरोना को लेकर देश में 53 दिनों से लॉकडाउन जारी है लेकिन कोरोना कम होने का नाम नहीं ले रहा।तो वहीं एक बार फिर देश में कोरोना संकट के चलते जारी लॉकडाउन के बाद भी कोरोना संक्रमित मरीजों की तादाद में लगातार इजाफा होता जा रहा है।

बता दें की भारत में कोरोना मरीजों की संख्या 90 हजार के पार पहुंच गई है।जबकि अब तक 2872 लोग कोरोना (की चपेट में आकर जान गंवा चुके हैं। हालांकि, आतापर्यंत 34109 कोरोना मरीज ठीक भी हुए हैं।महानगरों में कोविड-19 के नए मामले लगातार सामने आ रहे हैं, मुंबई, दिल्ली, अहमदाबाद में कोरोना के ज्यादा मरीज हैं।

देश में अबतक कोरोना के कुल 90927 मामले सामने आ चुके है। वहीं, लॉकडाउन के तीसरे चरण के आखिरी दिन यानी 17 मई को बीते 24 घंटे में कोरोना के 4987 नए मामले सामने आए हैं।जबकि 120 मौतों की पुष्टि हुई है, जो कही ना कही सरकार और इस देश की जनता के लिए चिंता का विषय है।जानकारी के लिए बता दें की इसके अलावा 3956 कोरोना मरीज इलाज के बाद ठीक भी हुए हैं, जिन्हे घर भेज दिया गया है और घर में ही रहने के निर्देश दिए गए है।

वहीं अगर हम राज्यों की बात करें तो महाराष्ट्र कोरोना संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित है।जहां कोरोना मरीजों का आंकड़ा 30 हजार के पार पहुंच गया है।इसके अलावा, राजस्थान, बिहार, गुजरात, पंजाब, मध्य प्रदेश में कोरोना के ज्यादा केस सामने आ रहे हैं, जबकि उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल, तेलंगणा, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर में भी कई लोग कोरोना की चपेट में हैं।अगर हम ओडिशा की बात करें तो वहां रविवार को कोरोना संक्रमण के 91 नए मामले सामने आए हैं, जबकि दो मौतों की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही राज्य में कुल कोरोना मामलों की संख्या 828 पहुंच गई है, कोरोना संक्रमण से ओडिशा में अब तक 5 लोगों की मौत हो चुकी है।

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 30 हजार के पार पहुंच गया है।महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 30 हजार 706 संम्पले,इनमें अकेले मुंबई में 18 हजार 555 केस शामिल हैं।महाराष्ट्र में शनिवार को पिछले 24 तासात 1606 नए केस सामने आए हैं। जबकि इस जानलेवा वायरस की चपेट में आकर 67 लोगों की मौत हुई है।राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बयान के मुताबिक महाराष्ट्र में अब तक 1135 लोगों की मौत हो चुकी है।

हालात लगातार पूरी दुनिया के बिगड़ते जा रहे है और WHO भी लगातार चेतावनी दे रहा है की घर में रहे सुरक्षित रहे।लेकिन सरकार लॉकडाउन लगाने के अलावा और कुछ नहीं कर पा रही।मजूदर लगातार मर रहा है और सरकार मौन है।पीएम केयर का पैसा लोगों की मदद के लिए लिया गया था लेकिन कहा गया वो पैसा ये सरकार ही जानती।तो आप सभी से National India News अपील करता है की घर में रहे और बेवजह से बाहर ना निकले।

(आता राष्ट्रीय भारत बातम्या फेसबुक, ट्विटर आणि YouTube आपण कनेक्ट करू शकता.)

प्रतिक्रिया व्यक्त करा

आपला ई-मेल अड्रेस प्रकाशित केला जाणार नाही.

हे देखील तपासा

तसाच दीप सिद्धू हा आरोपींनी शेतकरी मेळाव्यात हिंसा घडवून आणला ?

मंगळवारी शेतकरी संघटनांनी आयोजित केलेल्या ट्रॅक्टर रॅलीमुळे प्रजासत्ताक दिनी अचानक संघर्ष झाला…