घर सामाजिक आरोग्य 'मते मागण्यासाठी येतील, मग काठी तयार होईल’ वैद्यकीय यंत्रणेसाठी भाजपा आमदारावर संतप्त ग्रामस्थ

'मते मागण्यासाठी येतील, मग काठी तयार होईल’ वैद्यकीय यंत्रणेसाठी भाजपा आमदारावर संतप्त ग्रामस्थ

कोरोना की दूसरी लहर का कहर थोड़ा कम हुआ है और जनप्रतिनिधि अपने-अपने क्षेत्र में दौरा करने लगे हैं. तरी, कई जगह पर उन्हें गुस्से का सामना भी करना पड़ रहा है. एक ऐसा ही मामला उत्तराखंड के झबरेड़ा में सामने आया. भारतीय जनता पार्टी के विधायक देशराज कर्णवाल को आज क्षेत्र के दौरे के दौरान जनता के जबर्दस्त गुस्से का सामना करना पड़ गया।पत्रकार रणविजय सिंह ने उत्तराखंड का एक वीडियो ट्वीटर पर अपलोड किया है जिसमें ग्रामीणों और स्थानीय भाजपा विधायक देशराज कर्णवाल के बीच कहासुनी होती स्पष्ट सुनाई दे रही है।ग्रामीणों का गुस्सा इतने जोरों पर था कि उन्होंने भाजपा विधायक देशराज कर्णवाल को घेर कर साफ साफ कहा कि अगली बार वोट मांगने मत आना।वोट मांगने आए तो लट्ठ गैलरी में ही रखा हुआ है. ग्रामीणों ने दौर पर पहुंचे विधायक की जम कर फजीहत कर डाली।

मामला उत्तराखंड के रुड़की के झबरेड़ा क्षेत्र के भगतोवाली गांव का है। स्थानीय विधायक देशराज कर्णवाल इलाके के दौरे पर थें और विकास कार्यों का जायजा ले रहे थे।इसी दौरान विधायक की कुछ ग्रामीणों के साथ कहासुनी हो गई और बात काफी ज्यादा बढ़ गई। कहा जा रहा है कुछ ग्रामीणों ने विधायक के खिलाफ उनके सामने ही अपशब्दों का इस्तेमाल किया और मारपीट की धमकी तक दे डाली।बहुत तेजी से विधायक और ग्रामीणों के बीच नोंकझोक का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।विधायक के साथ कहासुनी के दौरान एक ग्रामीण ने कह दिया कि अब चुनाव में हमारे बीच वोट मांगने मत आना। अगर आया तो गैलरी में ही लट्ठ तैयार रखा हुआ है।ग्रामीणों के गुस्से का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने विधायक को लट्ठ की धमकी दे डाली।

वहीं इस मामले पर ग्रामीणों का साफ साफ कहना था कि विधायक का क्षेत्र के विकास से कोई लेना देना नहीं है। गांव में लंबे समय से नालियों की सफाई और जलजमाव की समस्या है। इस समस्या पर विधायक का कोई ध्यान नहीं है और गांव में आकर अपने विकास कार्यों की जानकारी देनी शुरु कर दी।ग्रामीणों का कहना था कि कोरोना जैसी भयंकर महामारी में विधायक ने गांव में चिकित्सा व्यवस्था में सुधार के लिए कोई काम नहीं किया। गांव के स्वास्थ्य केंद्र पर किसी प्रकार की कोई व्यवस्था नहीं है।यहां पर न तो डाॅक्टर है और नहीं रात के समय में कोई भी कर्मचारी इस स्वास्थ्य केंद्र पर मौजूद रहता है। अगले चुनाव में विधायक को गांव में घुसने नहीं दिया जाएगा।

(आता राष्ट्रीय भारत बातम्या फेसबुक, ट्विटर आणि YouTube आपण कनेक्ट करू शकता.)

प्राचीन भारतीय ग्रंथांमध्ये आधुनिक विज्ञान शोधण्यासाठी कोविड महामारीमध्ये स्यूडो-सायन्सची प्रगती – प्राचीन भारतीय ग्रंथांमध्ये आधुनिक विज्ञान शोधण्यासाठी कोविड महामारीमध्ये स्यूडो-सायन्सची प्रगती “प्राचीन भारतीय ग्रंथांमध्ये आधुनिक विज्ञान शोधण्यासाठी कोविड महामारीमध्ये स्यूडो-सायन्सची प्रगती”

झूम करून लालू प्रसाद यांचे जीवन पहा

मोदी आणि योगी यांच्यात संघर्ष आहे का?? भाजपच्या पोस्टरमध्ये पंतप्रधान मोदींचे चित्र हरवले, हा योगायोग आहे की राजकीय संदेश? ?

यूपी विधानसभा निवडणुकीच्या तयारीत मायावती,राजकीय क्षेत्रात आव्हान देईल

प्रतिक्रिया व्यक्त करा

आपला ई-मेल अड्रेस प्रकाशित केला जाणार नाही.

हे देखील तपासा

रद्दी म्हणून घरात चोरी करायची,पोलिसांनी पकडले

दिल्ली:- Twitter आणि YouTube वर कनेक्ट व्हा. Twitter आणि YouTube वर कनेक्ट व्हा …