घर भाषा हिंदी मध्य प्रदेश बहुजन आणि मुस्लिमांसाठी जंगली शहर बनले आहे

मध्य प्रदेश बहुजन आणि मुस्लिमांसाठी जंगली शहर बनले आहे

एमपी के नीमच में एक आदिवासी शख्स की बेरहमी से मॉब-लिचिंग कर हत्या करने की वारदात सामने आई है. वहीं कुछ घंटो बाद जिसमें राशिद नाम के कबाड़ी वाले शख्स से जबरदस्ती जय श्री राम बोलने पर प्रताड़ित किया जा रहा था. आए दिन ऐसे ही बहुजन समाज और मुस्लिम समाज पर अत्याचार की खबर मध्य प्रदेश से सामने आ रही है.

वहीं नीमच मामले पर बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने सख्त कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने इसे दिल दहला देने वाली वारदात करार दिया है।

मायावती ने ट्विटर पर लिखा ‘मध्य प्रदेश के नीमच जिले में आदिवासी वर्ग के श्री कन्हैयालाल भील की मामूली बात पर की गई पिटाई व फिर उसे गाड़ी में बाांधकर घसीटने से हुई मौत दिल दहलाने वाली मॉब लिंचिंग की यह घटना अति-निन्दनीय। सरकार दोषियों को सख्त सजा दे, बीएसपी की यह माँग।’

नीमच में कन्हैयालाल भील बाइक से जा रहा था, तभी उसकी टक्कर गुर्जर समाज के लोगों की गाड़ी से हो गई। इसके बाद इन जातिवादी गुंडों ने पहले तो कन्हैयालाल को बुरी तरह पीटा और फिर बाद में पिक अप गाड़ी से बांधकर घसीटा।

इस वारदात का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। हालांकि नीमच के कन्हैया भील की अस्पताल में इलाज के दौरान की मौत हो गई थी। कुछ लोग तालिबान का रोना रो रहे हैं लेकिन भारत में जातिवादी तालिबानियों से कम नहीं हैं। आए दिन वो बहुजनों-आदिवासियों और अल्पसंख्यकों को शिकार बनाते रहते हैं। आखिर शिवराज सरकार क्या कर रही है

प्रतिक्रिया व्यक्त करा

आपला ई-मेल अड्रेस प्रकाशित केला जाणार नाही.

हे देखील तपासा

अस्पृश्यता आणि जातिभेदाची सर्रास प्रकरणे

सरस्वती विद्या मंदिरात अनुसूचित जाती समाजातील मुलाची हत्या…