घर आंतरराष्ट्रीय राजकीय मोदी आणि योगी यांच्यात संघर्ष आहे का?? भाजपच्या पोस्टरमध्ये पंतप्रधान मोदींचे चित्र हरवले, हा योगायोग आहे की राजकीय संदेश? ?
राजकीय - जून 7, 2021

मोदी आणि योगी यांच्यात संघर्ष आहे का?? भाजपच्या पोस्टरमध्ये पंतप्रधान मोदींचे चित्र हरवले, हा योगायोग आहे की राजकीय संदेश? ?

योगींवरून भाजपमधील गोंधळ संपला आहे, हे आता सांगता येणार नाही. यूपी भाजपच्या ट्विटर हँडलचे ताजे चित्र सांगत आहे की भाजप योगींना कमकुवत मानते., ते तितकेसे नाहीत. 6 उत्तर प्रदेश भाजपचे प्रभारी राधामोहन सिंग यांची जूनमध्ये राज्यपाल आनंदीबेन पटेल यांच्याशी झालेली भेट ही सामान्य शिष्टाचार नव्हती. राजकीय जाणकार याला मोठ्या वादळाचा आवाज म्हणत आहेत.

याबाबत सोशल मीडियावरही वेगवेगळ्या गोष्टी घडत आहेत. मोदींना आपला आदर्श मानणाऱ्या मुख्यमंत्री योगी आणि सरकारच्या इतर अधिकृत ट्विटर हँडलवरून पंतप्रधान मोदींचे छायाचित्र गायब असल्याचे बोलले जात आहे. विरोधकांनीही भाजपचा मुद्दा उपस्थित केला., मोदी आणि योगी सरकारवर निशाणा साधण्यास सुरुवात केली आहे.

यूपी बीजेपी के ट्विटर हैंडल पर लगे बैनर में अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा की तस्वीरें हैं। हालांकि सुबह 11 बजे हैंडल से जारी एक वीडियो में मोदी का जिक्र है।

पीएम मोदी की तस्वीर गायब होने को लेकर सवाल इसलिए भी उठ रहें है क्योंकि बाकी भाजपा शासित राज्यों और अन्य राज्यों के सोशल मीडिया हैंडल्स पर पीएम मोदी मौजूद हैं। यूपी से सटे मध्य प्रदेश में @bjp4mp के ट्विटर हैंडल पर पीएम नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की तस्वीर भी लगी हुई हैं।

इतना ही नहीं गुजरात, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा के अधिकारिक सोशल मीडिया के हैंडल्स पर भी पीएम मोदी की तस्वीर है। गोवा के ट्विटर हैंडल पर जो फोटो है, उसमें सिर्फ मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की ही फोटो है।

सियासत में तस्वीरों का महत्व होता है। तस्वीरों के जरिए बड़े-बड़े मैसेज दिए जाते हैं। रविवार को जब यूपी प्रभारी राधा मोहन लखनऊ दौरे पर थे, तब राधा मोहन और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह से यूपी में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर सवाल पुछा गया? इस पर प्रदेश अध्यक्ष ने सीएम योगी का गुणगान किया। कहा कि मुख्यमंत्री बहुत मेहनती हैं, 24 घंटे काम करते हैं, कानून का राज है, इसके पहले जिन लोगों की सरकार रही आप लोगों ने उसको देखा है, किस तरह से एक पार्टी की सरकार रही है, भ्रष्टाचार की सरकार रही है।

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काफी एक्टिव नजर आ रहे हैं। इस बीच योगी ने शनिवार को अपना 49वां जन्मदिन भी मनाया। हालांकि इस दिन उन्हें खास बधाई नहीं मिली। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने सोशल मीडिया के जरिए योगी को बधाई नहीं दी। इस बात की चर्चा इसलिए भी हो रही है, क्योंकि महामारी के बीच मोदी ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को तो ट्वीट कर बधाई दी थी। इसकी आलोचना हुई थी।

बहरहाल अभी से यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर यूपी की राजनीति और बीजेपी में रणनीतियों की सियासी गर्मियां बढ़ गई है तो यूपी बीजेपी के ट्विटर हैंडल से पीएम मोदी की तस्वीर गायब, हा योगायोग आहे की राजकीय संदेश??

(आता राष्ट्रीय भारत बातम्या फेसबुक, ट्विटर आणि YouTube आपण कनेक्ट करू शकता.)

प्रतिक्रिया व्यक्त करा

आपला ई-मेल अड्रेस प्रकाशित केला जाणार नाही.

हे देखील तपासा

अस्पृश्यता आणि जातिभेदाची सर्रास प्रकरणे

सरस्वती विद्या मंदिरात अनुसूचित जाती समाजातील मुलाची हत्या…